अपना शहर चुनें

States

Rajasthan: 7 साल में पहली बार कांग्रेस के स्थापना दिवस पर पार्टी कार्यालय नहीं आए सचिन पायलट

पायलट एआईसीसी के दिल्ली में आयोजित कांग्रेस स्थापना दिवस के कार्यक्रम में शामिल हुए थे.
पायलट एआईसीसी के दिल्ली में आयोजित कांग्रेस स्थापना दिवस के कार्यक्रम में शामिल हुए थे.

कांग्रेस स्थापना दिवस (Congress Foundation Day) पर जयपुर में प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट (Sachin Pilot) की गैरमौजूदगी सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बनी हुई है.

  • Share this:
जयपुर. बीते 7 साल में यह पहली बार हुआ कि कांग्रेस के स्थापना दिवस (Congress Foundation Day) पर सोमवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यक्रम में पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट (Sachin Pilot) पार्टी कार्यालय नहीं आए. सचिन पायलट की कांग्रेस स्थापना दिवस के कार्यक्रम से गैरमौजूदगी चर्चा का विषय बनी हुई है. सियासत में इसे कुछ महीनों पहले हुए सियासी घटनाक्रम से भी जोड़कर भी देखा जा रहा है.

हालांकि, साल 2014 के बाद यह पहला कांग्रेस स्थापना दिवस था, जब पायलट पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नहीं हैं. बिना प्रदेशाध्यक्ष पहले मौके पर ही पायलट स्थापना दिवस के कार्यक्रम में नहीं आए. जानकारी के मुताबिक, सचिन पायलट जयपुर में ही नहीं थे. इस वजह से कांग्रेस स्थापना दिवस पर हुए कार्यक्रम और तिरंगा यात्रा में शामिल नहीं हुए.

Rajasthan: निकाय चुनावों में BJP की बुरी हार, 5 से 6 जिलाध्यक्षों की हो सकती है छुट्टी

दिल्ली के कार्यक्रम में हुए शामिल


बताया जा रहा है कि पायलट दिल्‍ली स्थित एआईसीसी मुख्‍यालय में हुए कार्यक्रम में शामिल हुए थे. इसके पीछे कई राजनीतिक कारण बताये जा रहे हैं, लेकिन सियासी गलियारों में पायलट की जयपुर के कार्यक्रम से दूरी के खासे चर्चे हैं. इस दौरान सचिन पायलट ने दिल्ली में प्रदेश प्रभारी अजय माकन से मुलाकात कर प्रदेश कार्यकारिणी और अन्य राजनीतिक मसलों पर चर्चा की है. पार्टी सूत्रों की मानें तो मंत्रिमंडल, प्रदेश कार्यकारिणी और राजनीतिक नियुक्तियों में सचिन पायलट ने अपने समर्थकों की सम्मानजनक भागीदारी मांगी है.


कमेटी की रिपोर्ट का है इंतजार
उल्लेखनीय है कि गहलोत और पायलट के बीच कुछ माह पहले हुए सियासी घमासान के बाद दोनों कैम्पों में सुलह करवाई गई थी. उसके बाद पायलट कैम्प की मांगों के समाधान के लिए तीन सदस्यीय कमेटी बनाई गई थी. इस कमेटी की रिपोर्ट का अभी तक सभी को इंतजार है. कमेटी के सदस्य अहमद पटेल का निधन हो चुका है. फिलहाल अहमद पटेल की जगह किसी को कमेटी में नहीं लिया गया है. कमेटी में केसी वेणुगोपाल और अजय माकन दो सदस्य हैं. इस कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर ही तय होगा कि पायलट कैम्प की कौन कौन सी मांगों का समाधान किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज