होम /न्यूज /राजस्थान /

राजस्थान: वन मंत्री के पुत्र फिरौती और अपहरण के मामले में घिरे, 50 लाख रुपये मांगने का आरोप

राजस्थान: वन मंत्री के पुत्र फिरौती और अपहरण के मामले में घिरे, 50 लाख रुपये मांगने का आरोप

पीड़ित का आरोप है कि अपहरणकर्ताओं ने उसकी बात वन एवं पर्यावण मंत्री सुखराम विश्नोई के बेटे भूपेंद्र विश्नोई से कराई.

पीड़ित का आरोप है कि अपहरणकर्ताओं ने उसकी बात वन एवं पर्यावण मंत्री सुखराम विश्नोई के बेटे भूपेंद्र विश्नोई से कराई.

Jalore News: राजस्थान की गहलोत सरकार के वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम विश्नोई के पुत्र भूपेन्द्र विश्नोई अपहरण और फरौती मांगने के आरोपों से घिर गये हैं.

जयपुर. राजस्थान की गहलोत सरकार के एक मंत्री का बेटा अपहरण और फिरौती (ransom and kidnapping) के आरोप से घिर गया है. वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम विश्नोई (Forest and environment minister sukhram vishnoi) के बेटे पर एक व्यापारी ने आरोप लगाया कि मंत्री पुत्र ने उन्‍हें रिहा कराने के बदले 50 लाख की फिरौती मांगी थी. पीड़ित ने अपहरणकर्ताओं के चंगुल से हरियाणा से भाग कर अपनी जान बचाई. पीड़ित जालोर एसपी के सामने पेश हुआ और आरोप लगाया कि पुलिस राजनीतिक दबाब में आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर रही है. दूसरी तरफ मंत्री पुत्र ने सफाई दी है कि पीड़ित के अपहरण के बाद वह तो खुद उसे छुड़ाने की मांग को लेकर धरने पर बैठे थे. उन्होंने आरोपों को विरोधियों की राजनतिक साजिश करार दिया है.

पीड़ित प्रकाश विश्नोई का 17 जुलाई को जालोर के हड़ेचा से अपहरण कर लिया गया था. अपहरणकर्ता उन्‍हें हरियाणा के भिलाई ले गए. वहां बंधक बनाकर तीन दिन तक उनके साथ मारपीट करते रहे. पीड़ित का आरोप है कि इस दौरान अपहरणकर्ताओं ने उनकी बात वन एवं पर्यावण मंत्री सुखराम विश्नोई के बेटे भूपेंद्र विश्नोई से कराई. पीड़ित का आरोप है कि भूपेंद्र ने उनकी रिहाई के बदले 50 लाख की फिरौती मांगी थी.

भूपेन्द्र बोले- मेरे खिलाफ राजनीतिक साजिश
पीड़ित का कहना है कि स्थानीय शख्स की मदद से वह अपहणकर्ताओ के चंगुल से भागने में कामयाब रहे. पीड़ित सीधे जालोर में एसपी के सामने पेश हुआ. पूरे मामले की जांच सांचौर के बजाय जालोर में कराने और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की गई है. उधर, मंत्री सुखराम विश्नोई के बेटे भूपेंद्र विश्नोई ने सफाई दी है. उन्‍होंने आरोप को राजनीतिक साजिश बताया है. भूपेंद्र ने कहा पुलिस जांच कर ले. वे तो खुद अपहरण के बाद पीड़ित परिवार के साथ धरने पर बैठे थे. जालोर एसपी अनुकृति उज्जैनिया ने पीड़ित के बयान दर्ज कर जांच के आदेश दे दिए हैं. एएसपी ने बताया कि पीड़ित सांचौर के बजाय जालोर में जांच चाहता है, इसलिए बयान भी यहीं दर्ज किए गए हैं.

राजस्थान में अपराध की बाढ़
राजस्थान में पिछले तीन-चार दिन से अपराधों की बाढ़ आ रखी है. एक दिन पहले ही सीकर में लुटेरे पुलिस पर हमला कर उनसे कार लूट ले गये थे. वहीं जोधपुर में पुलिस के साथ मारपीट की घटना सामने आई है. राजस्थान में महिलाओं के खिलाफ अपहरण और लूट की वारदातें तेजी से बढ़ी हैं.

Tags: Ashok Gehlot Government, Crime in Rajasthan, Kidnapping Case, Rajasthan latest news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर