राजस्थान: पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस नेता जनार्दन सिंह गहलोत का निधन, पढ़ें सियासी एवं खेल जगत का पूरा सफर

गहलोत तीन बार करौली से और एक बार जयपुर से विधायक रहे थे.

गहलोत तीन बार करौली से और एक बार जयपुर से विधायक रहे थे.

Former minister and Congress leader Janardan Singh Gehlot Passed away : कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे जर्नादन सिंह गहलोत अपने पूरे जीवनकाल में खेलों संघों से भी जुड़े रहे थे. उनके निधन से राजनीतिक गलियारों और खेल जगत में शोक की लहर छा गई.

  • Share this:
जयपुर. पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जनार्दन सिंह गहलोत (Janardan Singh Gehlot) का आज जयपुर में हार्ट अटैक होने से निधन (Passed away) हो गया. इंटरनेशनल कबड्डी फेडरेशन के फाउंडर प्रेसिडेंट रहे जर्नादन गहलोत के निधन से प्रदेश के राजनीतिक गलियारों में शोक की लहर दौड़ गई. सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने उनके निधन पर दुख जताया है. सीएम गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि जनार्दन सिंह गहलोत का राजनीतिक क्षेत्र एवं खेल जगत में उल्लेखनीय योगदान रहा. ईश्वर शोकाकुल परिजनों को यह आघात सहने की शक्ति दें. गहलोत बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही दलों में रहे थे.

जर्नादन सिंह गहलोत राजनीति के साथ-साथ बरसों से खेल जगत से भी जुड़े हुये थे. वे इंटरनेशनल कबड्डी फेडरेशन के फाउंडर प्रेसिडेंट रहने के अलावा राजस्थान ओलम्पिक संघ के भी अध्यक्ष रह चुके थे. उनके निधन पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ.सी पी जोशी, पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा और गहलोत सरकार के मुख्य सचेतक डॉ. महेश जोशी ने भी ट्वीट कर दुख जताया है.

Youtube Video


यह रहा राजनीतिक सफर
जर्नादन सिंह गहलोत ने कांग्रेस पार्टी से अपना राजनीतिक करियर शुरू किया था. गहलोत तीन बार करौली से और एक बार जयपुर से विधायक रहे थे. जनार्दन सिंह गहलोत के संजय गांधी से बेहद नजदीकी रिश्ते थे. वे कांग्रेस शासन में एक बार खाद्य आपूर्ति मंत्री रहे. बाद में बीच में उन्होंने कांग्रेस का हाथ छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया था. बीजेपी सरकार के कार्यकाल के दौरान वे राजस्थान भंडारण निगम के अध्यक्ष भी रहे. लेकिन गत लोकसभा चुनाव से पूर्व वे वापस कांग्रेस में लौट आये थे. 5 अक्टूबर 1944 को जन्मे जनार्दन सिंह गहलोत का खेलों के प्रति काफी झुकाव था. वे राजनीति के साथ-साथ खेल जगत से भी लगातार जुड़े रहे थे.

30 साल तक तक भारतीय कबड्डी संघ के अध्यक्ष रहे

जर्नादन सिंह गहलोत का खेलों में भी उल्लेखनीय योगदान रहा. वे आजीवन खेल संघों से जुड़ रहे. जर्नादन सिंह गहलोत इंटरनेशनल कबड्डी फेडरेशन के फाउंडर प्रेसिडेंट रहने के साथ ही 30 साल तक तक भारतीय कबड्डी संघ के अध्यक्ष रहे. वे भारतीय ओलंपिक संघ उपाध्यक्ष व संघ के राजस्थान अध्यक्ष भी रहे. वे पहली बार 80 के दशक में राजस्थान ओलिंपिक संघ के अध्यक्ष बने थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज