दिनदहाड़े राजधानी की सड़कों पर दौड़ता दिखा गीदड़

शहर में वन्यजीवों के आने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. मंगलवार को राजधानी की सड़कों पर एक गीदड़ दौड़ता देखा गया.
शहर में वन्यजीवों के आने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. मंगलवार को राजधानी की सड़कों पर एक गीदड़ दौड़ता देखा गया.

शहर में वन्यजीवों के आने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. मंगलवार को राजधानी की सड़कों पर एक गीदड़ दौड़ता देखा गया.

  • Share this:
शहर में वन्यजीवों के आने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. मंगलवार को राजधानी की सड़कों पर एक गीदड़ दौड़ता देखा गया.


मंगलवार को राजधानी के टोंक रोड़ स्थित महावीर नगर में एक गीदड़ दिलदहाड़े सड़कों पर दौड़ता हुआ देखा गया. इलाके में गीदड़ दिखने के बाद एकाएक सनसनी फैल गई. इस बीच कुछ लोगों भेड़िए की अफवाह उड़ा दी जिसके बाद लोग दहशत में आ गए.

बाद में यह गीदड़ महावीर नगर के मकान नंबर-2 में जाकर छिप गया. इस पर मकान मालिक बिरदीचंद चौधरी ने तुरन्त इसकी सूचना पुलिस को दी. कुछ देर में पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने गीदड़ मिलने की सूचना वन विभाग को दी. जिस पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची. वन विभाग की टीम ने रेस्क्यू कर गीदड़ को जाल में फंसाकर पकड़ लिया.



रेस्क्यू में वनकर्मी चोटिल-
रेस्क्यू के दौरान एक वनकर्मी मामराज के हाथ पर गीदड़ ने काट लिया जिससे वह घायल हो गया. वन विभाग की टीम ने गीदड़ को पकड़कर जयपुर जन्तुआलय भिजवाया जहां उसका चैकअप किया गया. चैकअप पर सामान्य पाए जाने के बाद वन विभाग टीम द्वारा गीदड़ को झालाना के जंगल में छोड़ दिया गया.

दस दिन पूर्व आया था भेड़िया-
राजधानी में वन क्षेत्र से जानवरों का आवासीय इलाकों में पहुंचने का यह पहला मामला नही है. इससे पहले लगभग दस दिन पूर्व एक भेड़िया राजधानी के मालवीय नगर में दाखिल हुआ था. तब पूरे इलाके में दहशत का माहौल पैदा हो गया था. अब एक बार फिर गीदड़ का आवासिय क्षेत्र में आना गंभीर मामला है.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज