राजस्थान:1100 करोड़ का निवेश बढ़ाएगी फ्रांस की कम्पनी सेंट गोबेन, कोरोना काल में अर्थव्यवस्था को बंधी उम्मीद

वीसी के जरिये संवाद करते सीएम अशोक गहलोत.

Industry expansion in Rajasthan: फ्रांस की प्रमुख कम्पनी सेंट गोबेन (Saint Gobain) राजस्थान में अपने उद्योग को और गति देगी. इसके लिये वह 1100 करोड़ रुपये का निवेश विस्तार करेगी. सेंट गोबने के भिवाड़ी स्थित प्लांट में अब तक करीब 1200 करोड़ का निवेश किया गया है.

  • Share this:
जयपुर. ग्लास निर्माण के क्षेत्र में दुनिया की प्रमुख कम्पनी सेंट गोबेन (Saint Gobain) राजस्थान में 1100 करोड़ रुपये का निवेश विस्तार करेगी. फ्रांस की इस कम्पनी के बड़े निवेश विस्तार (Investment expansion) से कोविड की विषम परिस्थितियों में औद्योगिक गतिविधियों को मजबूती मिलेगी. सीएम अशोक गहलोत ने गुरुवार को कम्पनी के निवेश प्रस्ताव के संबंध में वीसी के जरिए बैठक ली.

मुख्‍यमंत्री गहलोत कहा कि राज्य सरकार के प्रयासों से राजस्थान निवेश के लिए सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले राज्य के रूप में उभर रहा है. उन्होंने कहा कि सरकार के नीतिगत फैसलों के साथ ही बेहतर कानून व्यवस्था और सहूलियतों के चलते दुनिया की नामी गिरामी कम्पनियां राजस्थान में निवेश के लिए रुचि दिखा रही हैं. गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार यहां आने वाले उद्योगों को भरपूर प्रोत्साहन देगी. सेंट गोबने के भिवाड़ी स्थित प्लांट में अब तक करीब 1200 करोड़ का निवेश किया गया है. अब कम्पनी ने 1100 करोड़ के निवेश विस्तार का प्रस्ताव दिया है.

अब तक रहा अच्छा अनुभव
बैठक में सेंट गोबेन इंडिया के सीईओ बी संथानम ने कहा कि राजस्थान में बीते करीब 11 सालों का उनका अनुभव शानदार रहा है. इसी का परिणाम है कि कंपनी ने इतने कम समय में ही भिवाड़ी को करीब 1100 करोड़ रुपये के निवेश विस्तार के लिए चुना है. सीएम गहलोत ने ही अपने पिछले कार्यकाल में कम्पनी के भिवाड़ी प्लांट का शिलान्यास किया था.

राज्य में इंवेस्टर फ्रेंडली माहौल
संथानम ने कहा कि राज्य में इंवेस्टर फ्रेंडली माहौल का ही नतीजा है कि विश्वस्तरीय कॉन्क्लेव में भिवाड़ी प्लांट को हमारा औद्योगिक समूह सफल मॉडल के रूप में प्रदर्शित करता है. इससे अंतरराष्ट्रीय उद्यमियों के बीच राजस्थान के लिए सकारात्मक संदेश जाता है. उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में राजस्थान में कोविड-19 के सफल प्रबंधन की भी खुलकर तारीफ की.

प्रावधानों में बदलाव से बदला माहौल
राज्य सरकार ने बीते वर्षों में निवेश को आकर्षित करने के लिए कई महत्वपूर्ण प्रावधान और नीतिगत फैसले किए हैं. इसके चलते देशी-विदेशी कम्पनियां यहां निवेश के लिए आकर्षित हो रही हैं. उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में औद्योगिक इकाइयों की स्थापना को सुगम बनाने के लिए नियमों एवं प्रक्रियाओं का सरलीकरण किया है. बड़े उद्योगों की स्थापना के प्रस्तावों को जल्दी मंजूरी देने के लिए बोर्ड ऑफ इंवेस्टमेंट का गठन किया गया है. बोर्ड की पहली ही बैठक में 78 हजार करोड़ रुपये के निवेश प्रस्तावों को मंजूरी दी गई है. प्रदेश में सेरेमिक उद्योगों की स्थापना के लिए प्रचुर मात्रा में खनिज संसाधन हैं. इनका लाभ सेंट गोबेन कम्पनी को मिलेगा.