राजस्थान के किसानों को गहलोत सरकार ने दी राहत, बारिश और ठंड से खराब हुई फसलों के लिए मिलेगा अनुदान

इसके अलावा अन्य जिलों से प्रारंभिक सूचना अनुसार फसल खराबा नहीं हुआ है. (फाइल फोटो)

इसके अलावा अन्य जिलों से प्रारंभिक सूचना अनुसार फसल खराबा नहीं हुआ है. (फाइल फोटो)

राजस्व विभाग (Revenue Department) द्वारा संबंधित जिलों के प्रभावित क्षेत्रों में विशेष गिरदावरी कराने के लिए जिला कलेक्टरों को निर्देशित किया जा रहा है.

  • Share this:


जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में 2 से 4 जनवरी तक जिन जिलों में ओलावृष्टि (Hail) , शीत लहर, एवं पाला पड़ने से फसल खराबे की विशेष गिरदावरी (Special Girdawari) करवाई जाएगी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के निर्देश पर राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने संबंधित जिला कलेक्टरों को गिरदावरी कराने के आदेश दिए गए हैं. प्रमुख शासन सचिव, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन आनंद कुमार ने बताया कि राज्य में 2 से 4 जनवरी तक ओला वृष्टि, शीत लहर एवं पाला पड़ने से जिन-जिन जिलों में फसल को नुकसान हुआ है, उनकी प्रारंभिक सूचना प्राप्त की गई है.




2 जनवरी और 3 जनवरी को कोटा, अलवर एवं बूंदी जिले में फसल खराबे की सूचना मिली. वहीं, 4 जनवरी को बूंदी और नागौर जिले में फसल खराब होने की सूचना प्राप्त हुई है. जिला कोटा की तहसील पीपलदा के 2 गांव, रामगंज मंडी के 4 गांव, नागौर जिले की तहसील रियांबड़ी के 17 गांवों में 33 प्रतिशत या इससे अधिक खराबे की सूचना प्राप्त हुई है. इसके अलावा अन्य जिलों से प्रारंभिक सूचना अनुसार फसल खराबा नहीं हुआ है.

कलेक्टरों को दिये निर्देश

राजस्व विभाग द्वारा संबंधित जिलों के प्रभावित क्षेत्रों में विशेष गिरदावरी कराने के लिए जिला कलेक्टरों को निर्देशित किया जा रहा है. विशेष गिरदावरी में 33 प्रतिशत या इससे अधिक फसल खराब होने पर प्रभावित किसानों को शीघ्र कृषि अनुदान वितरण किया जाएगा. वहीं, साथ ही राज्य में आगामी कुछ दिन मौसम खराब रहने के चलते किसानों को हिदायत दी गई है कि वे अपनी फसलों को ओला वृष्टि, शीत लहर और पाले से बचाव के लिए जरूरी सावधानी बरतें.



कोहरे ने पूरे जिले को अपनी आगोश में ले लिया

बता दें कि कल ही खबर सामने आई थी कि एक बार फिर से पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने के कारण कोटा जिले में मौसम में बड़ा बदलाव आया है. कोटा शहर में गुरुवार रात को शुरू हुआ बारिश का दौर सुबह तक जारी रहा. रात को मौसम बिगड़ने के बाद बादलों की गर्जना के साथ जिले के कई स्थानों पर बारिश हुई. सुबह भी आसमान में घने बादल छाए रहे. उसके बाद कोहरे ने पूरे जिले को अपनी आगोश में ले लिया.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज