• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • JAIPUR GEHLOT GOVERNMENT S MINISTER MAMTA BHUPESH S HUSBAND BECAME IAS UPSC RJSR

Rajasthan News: गहलोत सरकार की मंत्री ममता भूपेश के पति बने IAS, प्रदेश को मिले 4 नए ब्यूरोक्रेट्स

मंत्री ममता भूपेश के पति डॉक्टर घनश्याम चिकित्सा सेवा से आईएएस बनाये गए हैं.

राजस्थान को चार नये आईएएस अधिकारी (IAS Officers) मिल गये हैं. ये चारों अधिकारी अन्य सेवाओं से भारतीय प्रशासनिक सेवाओं में पदोन्‍नत किये गये हैं. इनमें गहलोत सरकार की महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश (Mamta Bhupesh) पति डॉ. घनश्याम भी शामिल हैं.

  • Share this:
जयपुर. RAS एसोसिएशन के विरोध के बीच अन्य सेवाओं से 4 अधिकारी आईएएस (IAS) बन गए हैं. केन्द्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण मंत्रालय ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी है. गहलोत सरकार (Gehlot Government) की महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश (Mamta Bhupesh) के पति डॉ. घनश्याम, पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील के करीबी रहे शरद मेहरा और मुख्यमंत्री के सलाहकार गोविंद शर्मा की बहन हेमपुष्पा शर्मा अन्य सेवाओं से आईएएस में पदोन्नत हो गए हैं.

चारों अधिकारियों को राजस्थान कैडर आवंटित किया गया है. डॉ. घनश्याम के साथ ही सीताराम जाट, हेमपुष्पा शर्मा और शरद मेहरा का आईएएस में चयन होने के उपरांत इन्हें राजस्थान कैडर आवंटित किया है. इन्हें 2019 की चयन सूची में शामिल किया गया है. लेखा सेवा से शरद मेहरा और हेमपुष्पा शर्मा, कृषि सेवा से सीताराम जाट और चिकित्सा सेवा से डॉक्टर घनश्याम आईएएस बनाए गए हैं.

31 दिसंबर को यूपीएससी में हुए थे इंटरव्यू
यूपीएससी में 30 और 31 दिसंबर 2020 को अन्य सेवा से आईएएस के चार रिक्त पद भरने के लिए 20 अभ्यर्थियों के इंटरव्यू लिए गए थे. शरद मेहरा अभी वित्त बजट निदेशक हैं. उन्हें पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील का करीबी माना जाता है.

इन अफसरों ने दिए थे इंटरव्यू
इंटरव्यू देने वाले अधिकारियों में आईटी से अकुल भार्गव, पशुपालन विभाग से डॉक्टर आनंद सेजरा, अनिल अम्बेश, अरविंद कुमार जैन, चिकित्सा से डॉक्टर घनश्याम, जलेंद्र कुमार चारण, केसर सिंह, मदनलाल गुर्जर, डॉक्टर महेंद्र खड़गावत, मुकेश माहेश्वरी, ओमप्रकाश बैरवा, रामकरण आमेरिया, रशीद खान, संगीत कुमार, लेखा सेवा से शरद मेहरा व हेमपुष्पा शर्मा और कृषि से सीताराम जाट शामिल थे. पीडब्ल्यूडी से सुभाष आर्य, सुधीर शर्मा और टीकाराम शर्मा ने इंटरव्यू दिया था.

RAS एसोसिएशन ने किया था विरोध
वर्ष 2017 और 2018 में चयन प्रक्रिया के दौरान आरएएस के बड़े वर्ग ने इसका विरोध किया था. 30 व 31 दिसंबर 2020 को जब इंटरव्यू हुए थे, उससे पहले भी आरएएस एसोसिएशन ने कोर्ट में याचिका दायर की थी. उसे खारिज कर दिया गया था. सांसद डॉक्टर किरोड़ी लाल मीणा ने पीएमओ को भेजे पत्र में इस प्रक्रिया का विरोध किया था. वहीं दिल्ली हाईकोर्ट में जारी मामले में कोर्ट ने डीओपीटी को कहा गया था कि वह चयन की प्रक्रिया जारी रखे, लेकिन ये नियुक्ति दिल्ली हाई कोर्ट के अंतिम निर्णय के अधीन रहेगी.
Published by:Sandeep Rathore
First published: