Rajasthan: गहलोत सरकार के संकटमोचक प्रद्युम्न सिंह को मिला वफादारी का इनाम, जानिये पूरी कहानी

प्रद्युम्न सिंह के विधायक पुत्र रोहित बोहरा पहले पायलट के साथ थे, लेकिन बगावत के वक्त पाला बदलकर वे भी गहलोत के साथ आ गए थे.

प्रद्युम्न सिंह के विधायक पुत्र रोहित बोहरा पहले पायलट के साथ थे, लेकिन बगावत के वक्त पाला बदलकर वे भी गहलोत के साथ आ गए थे.

Gehlot government's troubleshooter Pradyuman Singh: पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रद्युमन सिंह को राज्य वित्त आयोग का अध्यक्ष (Chairman of State Finance Commission) नियुक्त किया गया है.

  • Share this:
जयपुर. राज्य सरकार ने पूर्व वित्त मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रद्युम्न सिंह (Pradyuman Singh) को राज्य वित्त आयोग का अध्यक्ष (Chairman of State Finance Commission) नियुक्त किया है. उनके साथ ही भीम से विधायक रहे लक्ष्मण सिंह रावत और सांगानेर विधानसभा से बीजेपी विधायक अशोक लाहोटी को आयोग का सदस्य मनोनीत किया गया है. राज्य सरकार की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार आयोग के अध्यक्ष और अन्य सदस्य अधिसूचना की तारीख से डेढ़ वर्ष तक की अवधि के लिए पद धारण करेंगे.

आयोग सभी स्तरों पर पंचायतों की वित्तीय स्थिति का पुनर्वालोकन करेगा. राज्य वित्त आयोग का अध्यक्ष बनने के बाद प्रद्युमन सिंह ने अपनी पहली प्रतिक्रिया में कहा कि सबकी सलाह और राय मशविरे के आधार पर काम करेंगे. प्रद्युम्न सिंह गहलोत सरकार के पिछले कार्यकाल में वित्त मंत्री रहे थे. सिंह ने धौलपुर की राजाखेड़ा से विधानसभा में कई बार प्रतिनिधित्व किया है.

सरकार को बचाने में निभाई थी अहम भूमिका

पूर्व वित्त मंत्री प्रद्युमन सिंह अशोक गहलोत के सियासी संकटमोचक माने जाते हैं. लंबे समय के राजनीतिक करियर में प्रद्युमन सिंह ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को कई अवसरों पर सियासी संकट से उबारने में मदद की. उन्हें इसका फायदा मिला और मुख्यमंत्री ने राज्य वित्त आयोग का अध्यक्ष नियुक्त कर दिया.
पहले सिंह के विधायक पुत्र रोहित बोहरा पहले पायलट के साथ थे

प्रद्युम्न सिंह के विधायक पुत्र रोहित बोहरा पहले पायलट के साथ थे, लेकिन बगावत के वक्त पाला बदलकर वे भी गहलोत के साथ आ गए थे. वित्त आयोग के सदस्य बनाए गए लक्ष्मण सिंह रावत सचिन पायलट समर्थक हैं. लक्ष्मण सिंह रावत भीम से कांग्रेस विधायक रहे हैं और पूर्व में गृह राज्य मंत्री भी रह चुके हैं. लक्ष्मण सिंह रावत के पुत्र सुदर्शन सिंह रावत अभी भीम से विधायक हैं. सचिन पायलट की बगावत के समय सुदर्शन सिंह रावत पायलट के साथ नहीं जाकर गहलोत की बाड़ेबंदी में थे.

एक सदस्य विपक्षी दलों से बनाने की रही है परंपरा



राज्य वित्त आयोग संवैधानिक संस्था है. राज्य में सत्ता परिवर्तन के बाद वित्त आयोग के अध्यक्ष एवं सदस्य के पद खाली चल रहे थे. पिछली बीजेपी सरकार में ज्योति किरण को वित्त आयोग का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था. राज्य वित्त आयोग में एक सदस्य विपक्षी दलों से बनाने की परंपरा रही है. पिछली बीजेपी सरकार के समय प्रद्युमन सिंह को वित्त आयोग का सदस्य बनाया गया था. इस बार बीजेपी विधायक अशोक लाहोटी को राज्य वित्त आयोग का सदस्य बनाया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज