राजस्थान: जयपुर ग्रेटर नगर निगम की बीजेपी महापौर और 3 पार्षदों को गहलोत सरकार ने किया निलंबित

निलंबन के बाद सौम्या गुर्जर ने बयान जारी करके कहा कि सरकार ने राजनीतिक द्वेषता की सभी हदें पार करते हुए उन्हें टारगेट किया है.

Jaipur Greater Municipal Corporation's BJP mayor Soumya Gurjar suspended: राज्य की गहलोत सरकार ने जयपुर ग्रेटर नगर निगम में चल रहे कमिश्नर-महापौर विवाद में देर रात महापौर सौम्या गुर्जर समेत तीन पार्षदों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान की राजधानी जयपुर में रविवार रात को एक बार फिर से सियासी तूफान उठा है. प्रदेश की गहलोत सरकार ने जयपुर ग्रेटर नगर निगम (Jaipur Greater Municipal Corporation) में कचरा उठाने वाली कंपनी बीवीजी को लेकर चल रहे विवाद में बड़ा कदम उठाते हुये बीजेपी महापौर सौम्या गुर्जर (BJP Mayor Soumya Gurjar) समेत तीन पार्षदों को तत्काल प्रभाव से निलंबित (Suspended) कर दिया है. इनमें दो पार्षद विभिन्न कमेटियों के चेयरमैन हैं.

राजस्थान में यह पहली बार हुआ है कि किसी महापौर को इस तरह से निलंबित किया गया है. निलंबित की गई महापौर सौम्या गुर्जर ने इसे राजनीतिक द्वेषता करार दिया है. वहीं बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा है कि यही राजस्थान में कांग्रेस के पतन का कारण बनेगा.

ये तीन पार्षद हैं शामिल
हाल ही में महापौर और पार्षदों के कमिश्नर यज्ञमित्र देव सिंह से हुये विवाद के मामले के बाद रविवार रात को घटनाक्रम तेजी से बदला. उसके बाद देर रात 11.30 बजे स्वायत्त शासन विभाग ने जयपुर ग्रेटर नगर निगम महापौर सौम्या गुर्जर समेत तीन पार्षदों को निलंबित करने के आदेश जारी कर दिये. इनमें महापौर के अलावा पार्षद पारस जैन,अजय चौहान और शंकर शर्मा शामिल हैं. सरकार ने इस मामले में महापौर सहित तीनों पार्षदों को प्रारम्भिक जांच में आयुक्त से अभद्र व्यवहार का दोषी माना है. अब सभी के खिलाफ न्यायिक जांच होगी.

सौम्या गुर्जर बोलीं-राजनीतिक द्वेषता की सारी हदें पार
निलंबन के बाद सौम्या गुर्जर ने बयान जारी करके कहा कि सरकार की ओर से राजनीतिक द्वेषता की सारी हदें पार करते हुए उन्हें टारगेट कर किया गया है. राज्य सरकार ने विधि विरुद्ध जाकर सख्त लॉकडाउन और सार्वजनिक अवकाश शनिवार रविवार के दिन बिना पक्ष प्रस्तुत करने का समय दिये हुये विधि विरुद्ध एक तरफा कार्रवाई की है. यह न्याय संगत नहीं है.

बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष बोले-"विनाश काले विपरीत बुद्धि"
वहीं बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि “विनाश काले विपरीत बुद्धि”. इतिहास गवाह है देश में जून के महीने में ही आपातकाल लगा था. तब कांग्रेस के पतन की शुरूआत हुई थी. जयपुर ग्रेटर की मेयर-पार्षदों का निलंबन दुर्भाग्यपूर्ण है. यही राजस्थान में कांग्रेस के पतन का कारण बनेगा. बीजेपी हर तरीके से न्याय की लड़ाई लड़ेगी.