गहलोत सरकार का महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण का दांव, असेंबली में आएगा प्रस्‍ताव
Jaipur News in Hindi

गहलोत सरकार का महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण का दांव, असेंबली में आएगा प्रस्‍ताव
अशोक गहलोत और सचिन पायलट

राजस्थान में कांग्रेस की गहलोत सरकार ने लोकसभा और विधानसभा चुनावों में महिलाओं के 33 फीसदी आरक्षण का प्रस्ताव लाने का फैसला किया गया, कैबिनेट में इस संकल्प पर विस्तार से चर्चा के बाद अब विधानसभा के मौजूदा सत्र में ही महिला आरक्षण के प्रस्ताव को पारित करवाने की तैयारी है.

  • Share this:
लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस सरकार राजस्थान में आधी आबादी को मैसेज देने के लिए 33 फीसदी महिला आरक्षण का दांव खेलने जा रही है. विधानसभा और लोकसभा चुनावों में 33 फीसदी सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित करने के लिए महिला आरक्षण का प्रस्ताव विधानसभा में लाकर इसे पारित करवाया जाएगा. कैबिनेट की बैठक में गुरुवार को लोकसभा और विधानसभा चुनावों में महिलाओं के 33 फीसदी आरक्षण का प्रस्ताव लाने का फैसला किया गया, कैबिनेट में इस संकल्प पर विस्तार से चर्चा हुई. अब विधानसभा के मौजूदा सत्र में ही महिला आरक्षण के प्रस्ताव को पारित करवाने की तैयारी है.

ये भी पढ़ें- जयपुर की अनिका को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार, पढ़ें- नन्हीं बच्ची के हौसले की कहानी

लोकसभा और विधानसभा में महिलाओं के लिए 33 फीसदी सीटें आरक्षित करने के लिए लोकसभा में बिल पारित हो चुका है, महिला आरक्षण का बिल राज्यसभा में अटका हुआ है. यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी इसे लेकर अभियान चलाती रही हैं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पिछले महीने कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी लिखकर 33 फीसदी महिला आरक्षण का प्रस्ताव विधानसभा में पारित कर केंद्र को भिजवाने को कहा था.



ये भी पढ़ें- विधायक हनुमान बेनीवाल ने फिर की हदें पार, पहले भी करते रहे हैं सदन में हंगामा
पंजाब की कांग्रेस सरकार प्रस्ताव पारित भेज चुकी है. कांग्रेस हाईकमान के आदेशों को अब राजस्थान की कांग्रेस सरकार भी अमली जामा पहनाने जा रही है. लोकसभा चुनावों से पहले 33 फीसदी महिला आरक्षण का प्रस्ताव पारित करने की सियसासी वजह भी है, कांग्रेस के रणनीतिकारों का मानना है ​कि इस कदम से महिलाओं के वोट पार्टी की तरफ करने में मदद मिलेगी.

ये भी पढ़ें- राज्यपाल से बदजुबानी, गांवों में अब पुलिस चौकीदार, दमकल से बुझवाई चिता

नीतिगत फैसला हो गया, विधानसभा में महिला आरक्षण पर प्रस्ताव पारित होगा.
अशोक गहलोत, मुख्यमंत्री


मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी चाहते हैं कि कांग्रेस शासित प्रदेशों में विधानसभा में महिला आरक्षण का प्रस्ताव पारित हो, कल इस बारे में नीतिगत फैसला लिय गया है, विधानसभा में जल्द महिला आरक्षण का प्रस्ताव पारित करवाया जाएगा. सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने महिला आरक्षण पर उठाई थी, संघर्ष के बाद आखिरकार लोकसभा में बिल पास हो गया था बिल लेकिन राज्यसभा में अभी यह बिल अटका हुआ है.

कैबिनेट की बैठक में कल हो चुका फैसला, महिला आरक्षण पर प्रस्ताव पारित होगा. 
सचिन पायलट, डिप्टी सीएम, राजस्थान


उधर, उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि जहां जहां कांग्रेस की सरकारें हैं वहां महिला आरक्षण का प्रस्ताव लाया जा रहा है, राहुल गांधी ने निर्देश दिए थे, कल कैबिनेट की बैठक में भी इस पर चर्चा हुई थी, जल्द ही 33 फीसफी आरक्षण का प्रस्ताव विधानसभा में लाया जाएगा.

ये भी पढ़ें- #Human Story: मैं पढ़ना चाहती हूं लेकिन बेबस हूं... मां के पास जहर के लिए भी पैसे नहीं हैं

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज