GehlotvsPilot: गहलोत के खिलाफ पायलट के बगावती तेवर कायम, साथ देने वालों से बोले- राम राम सा!
Jaipur News in Hindi

GehlotvsPilot: गहलोत के खिलाफ पायलट के बगावती तेवर कायम, साथ देने वालों से बोले- राम राम सा!
कांग्रेस ने सचिन पायलट के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें डिप्टी सीएम पद और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के पद से हटा दिया है (फाइल फोटो)

सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने सोमवार शाम ट्वीट कर कहा, 'जिन लोगों ने आज मेरा समर्थन किया मैं उन सबका हृदय से धन्यवाद करता हूं'

  • Share this:
जयपुर. कांग्रेस से बर्खास्त किए जाने के बाद सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने अपने समर्थकों और शुभचिंतकों का आभार जताया है. सचिन पायलट ने सोमवार शाम ट्वीट कर कहा, 'जिन लोगों ने आज मेरा समर्थन किया मैं उन सबका हृदय से धन्यवाद करता हूं.'

इससे पहले मंगलवार दोपहर कांग्रेस (Congress) द्वारा अपने खिलाफ की गई अनुशासनात्मक कार्रवाई के बाद भी पायलट ने ट्वीट कर अपनी पहली प्रतिक्रिया दी थी. पायलट ने लिखा था, 'सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहीं.'


बता दें कि गहलोत बनाम पायलट की लड़ाई में कांग्रेस ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का साथ देते हुए सचिन पायलट को डिप्टी सीएम के पद और राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष पद से बर्खास्त कर दिया था. इसके अलावा पार्टी ने सचिन पायलट के करीबी कई लोगों पर भी कार्रवाई करते हुए उनकी उनके पद से छुट्टी कर दी थी. इनमें गहलोत मंत्रिमंडल से हटाए गए दो मंत्रियों- रमेश मीणा और विश्वेंद्र सिंह के भी नाम शामिल हैं. इसके अलावा अभिमन्यु पूनिया को राजस्थान एनएसयूआई के अध्यक्ष पद और मुकेश भाकर को यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया गया.



इन पर गिरी गाज
उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने पायलट को उपमुख्यमंत्री पद से तो विश्वेंद्र सिंह को पयर्टन मंत्री, रमेश मीणा को खाद्य मंत्री पद से हटा दिया. पार्टी ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि पायलट और कुछ मंत्री साथी दिग्भ्रमित होकर भाजपा के षडयंत्र के जाल में उलझकर कांग्रेस की सरकार को गिराने की साजिश में शामिल हो गए. इस पर पहली प्रतिक्रिया में पायलट ने पहले दोपहर बाद ट्वीट किया, “सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहीं.” इसके बाद शाम को उन्होंने एक और ट्वीट कर उनके समर्थन में आए लोगों का आभार जताया. अपने ट्वीट के अंत में उन्होंने अपने चिर परिचित अंदाज में लिखा, “राम राम सा!” इसके अलावा वहीं पायलट के समर्थन में मुखर रहे विश्वेंद्र सिंह ने ट्वीटर पर एक वीडियो जारी किया. इसमें उन्होंने कहा, “मैं तो एक सवाल पूछना चाहता हूं कि हम लोगों ने कहां पार्टी विरोधी या पार्टी के खिलाफ या पार्टी के अहित में कोई बयान दिया.”
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading