अफीम उत्पादक किसानों के लिए खुशखबरी, अब तौल केन्द्रों पर ही होगी ग्रेडिंग

अफीम उत्पादक किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी है. अब अफीम की ग्रेडिंग नीमच और गाजियाबाद की फैक्ट्री में ना होकर तौल केंद्रों पर ही कर दी जाएगी. इसके साथ ही ग्रेडिंग और घटिया अफीम को आधार मानकर किसी भी किसान का पट्टा निरस्त नहीं किया जाएगा.

Abhishek Aadha | News18 Rajasthan
Updated: August 2, 2019, 1:26 PM IST
अफीम उत्पादक किसानों के लिए खुशखबरी, अब तौल केन्द्रों पर ही होगी ग्रेडिंग
अफीम की खेती। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
Abhishek Aadha | News18 Rajasthan
Updated: August 2, 2019, 1:26 PM IST
अफीम उत्पादक किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी है. अब अफीम की ग्रेडिंग नीमच और गाजियाबाद की फैक्ट्री में ना होकर तौल केंद्रों पर ही कर दी जाएगी. इसके साथ ही ग्रेडिंग और घटिया अफीम को आधार मानकर किसी भी किसान का पट्टा निरस्त नहीं किया जाएगा. यह फैसला शुक्रवार को दिल्ली में
अफीम पॉलिसी को लेकर केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर की अफीम उत्पादक क्षेत्रों के सांसदों के साथ हुई बैठक में लिया गया.

पट्टों की संख्या 18,000 से बढ़कर 75,000 तक पहुंच गई
बैठक के बाद चित्तौड़गढ़ सांसद सीपी जोशी ने कहा कि इसमें किसानों के हित में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं. इसमें तौल केंद्रों पर ही अफीम की जांच करना सबसे बड़ा फैसला है. इसके साथ ही बैठक में यह भी फैसला किया गया है कि ग्रेडिंग और घटिया अफीम को आधार मानकर किसी भी किसान का पट्टा निरस्त नहीं किया जाएगा. जोशी ने कहा कि पिछले 5 बरसों में अफीम उत्पादक किसानों को दिए गए पट्टों की संख्या 18,000 से बढ़कर 75,000 तक पहुंच गई है. सरकार लगातार कोशिश कर रही है कि ज्यादा से ज्यादा किसानों को अफीम के पट्टे दिए जाएं.

दाम बढ़ने की सौगात भी जल्द मिल सकती है
अफीम के दाम बढ़ाने को लेकर सांसद जोशी ने कहा कि दाम बढ़ाने का काम टेरिफ कमीशन करता है. टेरिफ कमीशन की लगातार दूसरे विभागों से इस संबंध में बात चल रही है. उन्होंने उम्मीद जताई कि टेरिफ कमीशन की रिपोर्ट के बाद किसानों को अफीम के दाम बढ़ने की सौगात भी जल्द मिल सकती है.

MLA राजेंद्र गुढ़ा के बयान के बाद BSP में गरमाई सियासत
Loading...

पं.दीनदयाल उपाध्याय के स्मारक का रखरखाव करेगी गहलोत सरकार
First published: August 2, 2019, 1:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...