Assembly Banner 2021

गहलोत सरकार ने किसानों को दी राहत, फसल बेचान के लिए पंजीकरण की सीमा 10% बढ़ाई

मूंग उत्पादन की स्थिति को देखते हुए 79 केन्द्रों पर तथा मूंगफली उत्पादक 25 केन्द्रों पर पंजीयन की सीमा को 10 प्रतिशत और बढ़ाया गया है.

मूंग उत्पादन की स्थिति को देखते हुए 79 केन्द्रों पर तथा मूंगफली उत्पादक 25 केन्द्रों पर पंजीयन की सीमा को 10 प्रतिशत और बढ़ाया गया है.

किसानों (Farmers) के लिए अच्छी खबर (Good News) है. राज्य सरकार (State government) ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price) पर फसल खरीद के लिए किसानों के रजिस्ट्रेशन की सीमा (Registration limit) को बढ़ा दिया है. सरकार ने कुल खरीद केन्द्रों में से 104 केन्द्रों पर 10 प्रतिशत की सीमा बढ़ाई है.

  • Share this:
जयपुर. किसानों (Farmers) के लिए अच्छी खबर (Good News) है. राज्य सरकार (State government) ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price) पर फसल खरीद के लिए किसानों के रजिस्ट्रेशन की सीमा (Registration limit) को बढ़ा दिया है. सरकार ने कुल खरीद केन्द्रों में से 104 केन्द्रों पर 10 प्रतिशत की सीमा बढ़ाई है. यह सीमा मूंग और मूंगफली उत्पादक किसानों के लिए बढ़ाई गई है. सरकार के इस निर्णय से 14 जिलों के करीब 14 हजार किसान लाभान्वित (Benefited) होंगे. अब तक 1 लाख 80 हजार किसानों ने फसल बेचान के लिए अपना पंजीयन कराया है.

गुरुवार से पुन: पंजीकरण की हुई शुरुआत
सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने बताया कि सरकार ने किसानों को राहत देते हुए मूंग और मूंगफली उत्पादक जिलों में फसल बेचान के लिए पंजीयन की सीमा को 10 प्रतिशत और बढ़ा दिया है. इससे अब अधिक संख्या में किसान अपना पंजीकरण करवा सकेंगे. गुरुवार से इन जिलों में पुन: पंजीकरण की शुरुआत कर दी है. मूंग उत्पादक जिलों में बीकानेर, हनुमानगढ़, नागौर, जैसलमेर, झुंझुनूं, श्रीगंगानगर, चूरू, अजमेर, सीकर, जोधपुर, जयपुर, टोंक, भीलवाड़ा और पाली शामिल है. वहीं मूंगफली उत्पादक जिलों में बीकानेर, जोधपुर, चूरू, झुंझुनूं, अजमेर, जैसलमेर, टोंक एवं श्रीगंगानगर शामिल हैं.

कुछ केन्द्रों पर पंजीयन का कार्य पूरा हो चुका है
इन जिलों में क्रय केन्द्रों की क्षमता के अनुसार कुछ केन्द्रों पर पंजीयन का कार्य पूरा हो चुका है. लेकिन इनमें अधिक मूंग उत्पादन की स्थिति को देखते हुए 79 केन्द्रों पर तथा मूंगफली उत्पादक 25 केन्द्रों पर पंजीयन की सीमा को 10 प्रतिशत और बढ़ाया गया है. अंजाना ने बताया कि दो दिनों में 1 लाख 80 हजार से अधिक किसानों ने समर्थन मूल्य पर मूंग, उड़द, सोयाबीन और मूंगफली के बेचान लिए अपना पंजीयन करा लिया है. प्रदेश में समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए 323 खरीद केन्द्र स्थापित किए गए हैं. मूंग के लिए करीब 1 लाख 7 हजार से अधिक तथा मूंगफली के लिए 70 हजार से अधिक किसानों ने पंजीयन कराया है.



करीब 14 हजार किसानों को मिलेगा फायदा
प्रमुख शासन सचिव, सहकारिता नरेशपाल गंगवार ने बताया कि इस निर्णय से मूंग के 79 केन्द्रों पर 9,856 तथा मूंगफली के 25 केन्द्रों पर 4,179 किसानों को फायदा मिलेगा.
विस उपचुनाव: BJP के हाथ से फिसली मंडावा सीट, खींवसर में RLP का कब्जा बरकरार

प्रदेश की 25,000 सहकारी समितियों और 144 कृषि मंडियों में जल्द होंगे चुनाव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज