मानसून: जयपुर, सीकर और अलवर में जमकर बरसे बादल, नदी नाले उफान पर

मानसून आखिरकार राजस्थान पर मेहरबान हो ही गया. बुधवार रात को राजधानी जयपुर समेत सीकर और अलवर में मानसून के बादल जमकर बरसे. इससे एक तरफ जहां नदी नालों में उफान आ गया, वहीं जयपुर में कई जगह सड़कें धंस गईं.

News18 Rajasthan
Updated: July 25, 2019, 10:25 AM IST
मानसून: जयपुर, सीकर और अलवर में जमकर बरसे बादल, नदी नाले उफान पर
अलवर में उफने नदी नाले। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
News18 Rajasthan
Updated: July 25, 2019, 10:25 AM IST
मानसून आखिरकार राजस्थान पर मेहरबान हो ही गया. बुधवार रात को राजधानी जयपुर समेत सीकर और अलवर में मानसून के बादल जमकर बरसे. इससे एक तरफ जहां नदी नालों में उफान आ गया, वहीं जयपुर में कई जगह सड़कें धंस गईं. जयपुर शहर में करीब 15 स्थानों पर बिजली के पोल और तार टूट गए. दीप नगर स्वेज फार्म कॉलोनी में हाईटेंशन लाइन का तार टूटा. गनीमत रही कि हादसों में कोई हताहत नहीं हुआ.

जयपुर में दोपहर के बाद देर भी बरसे बादल
जयपुर में लंबे इंतजार के बाद हुई बारिश से गर्मी और उमस से बड़ी राहत मिली है. जयपुर में बुधवार को दोपहर में अच्छी बारिश हुई. उसके बाद रातभर रुक-रुककर बारिश का दौर चलता रहा. बारिश के बाद लोगों ने देर रात तक सडकों पर इसे इंजाय किया और खूब आनंद उठाया. लेकिन बारिश से शहर के विकास के लिए काम करने वाली एजेंसियों के कामकाज की पोल खुल गई।

नगर निगम का मुख्य द्वार ही पानी में डूबा

कई नीचले इलाकों में पानी भर गया. यहां तक कि नगर निगम का मुख्य द्वार ही पानी में डूब गया. जलमहल के पास कॉलोनी में नाला ओवरफ्लो होने से वहां पानी भर गया. चांदपोल की कुछ दुकानों में भी पानी आ गया. सुशीलपुरा बस्ती के घरों में भी पानी भर जाने से आपदा प्रबंधन और सिविल डिफेंस की टीमों ने वहां पहुंचकर लोगों की मदद की. बीते 24 घंटों में जयपुर में 65 एमएम बारिश दर्ज की गई है.

सीकर में मूसलाधार बारिश
दूसरी तरफ सीकर में भी रात से ही जिलेभर में मूसलाधार बारिश का दौर जारी है. जिले में बने कई अंडरपास पानी में डूब गए हैं. सीकर शहर के राधाकिशनपुरा सहित पलसाना के अंडरपास में पानी भरा होने के कारण वहां रोडवेज की बस फंस गई. उसे बड़ी मुश्किल से ट्रैक्टर की सहयता से बाहर निकाला गया.
Loading...

अलवर में रुक रुककर कर चल रहा है बारिश का दौर
अलवर जिले में पिछले 12 घण्टे रुक रुककर हो रही के बारिश के बाद सरिस्का और अलवर शहर के आसपास के क्षेत्र में नदी नाले उफान पर हैं. पिछले 24 घण्टे में अलवर जिले में सबसे ज्यादा बारिस टहला में 48 मिमी दर्ज की गई है. जबकि मालाखेड़ा, उमरैण और सरिस्का क्षेत्र में 45 मिमी बारिस हुई है. बारिश से रूपारेल नदी और जयसमंद बांध में पानी की आवक दर्ज हुई है.

पीएम मोदी पर मंत्री शांति धारीवाल की टिप्पणी से हंगामा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 25, 2019, 10:25 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...