Political Crisis in Rajasthan : गोविंद सिंह डोटासरा बनाए गए राज्य कांग्रेस के नए अध्यक्ष
Jaipur News in Hindi

Political Crisis in Rajasthan : गोविंद सिंह डोटासरा बनाए गए राज्य कांग्रेस के नए अध्यक्ष
राजस्थान में पार्टी अध्यक्ष पद से सचिन पायलट की विदाई के बाद कांग्रेस के नए प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति हो गई.

कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल (KC Venugopal) ने नियुक्ति का यह आदेश जारी किया. 15 जुलाई की तारीख से जारी हुए इस नियुक्ति पत्र में डोटासरा को कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की घोषणा है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में सियासी उठापटक के बीच गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) को कांग्रेस (Congress) का प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया है. इस पद के लिए उनका नियुक्ति पत्र जारी किया जा चुका है. कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल (KC Venugopal) ने नियुक्ति का यह आदेश जारी किया. 15 जुलाई की तारीख से जारी हुए इस नियुक्ति पत्र में डोटासरा को कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की घोषणा है.

पायलट उतार दिए गए थे 'जहाज' से
गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी ने मंगलवार को सचिन पायलट (Sachin Pilot) को राजस्थान के उपमुख्यमंत्री (Deputy Chief Minister) पद से हटा दिया था. इसके अलावा उनके गुट के 2 मंत्रियों को भी अशोक गहलोत कैबिनेट (Ashok Gehlot Cabinet) से हटाया गया था. इन फैसलों के साथ ही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद से भी पायलट की छुट्टी कर दी गई थी. पर्यवेक्षक बनाकर जयपुर भेजे गए रणदीप सिंह सुरजेवाला (Randeep Singh Surjewala) ने ये घोषणाएं की थीं. उस वक्त ही सुरजेवाला ने नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम की घोषणा करते हुए कहा था कि किसान के घर में जन्मे और ओबीसी समाज से आने वाले राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को यह जिम्मेदारी दी जाएगी.

शह और मात का खेल लगातार जारी
ध्यान रहे कि राजस्थान की राजनीति में शह और मात का खेल लगातार जारी है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच तलवारें खिंच गई हैं. मामला हाई कोर्ट तक पहुंच गया है. पायलट ने अपने 18 समर्थकों को पार्टी व्हिप के उल्लंघन के मामले में विधानसभा स्पीकर के नोटिस को कानूनी चुनौती दी है. इस बीच न्यूज़18 इंडिया से बातचीत करते हुए गहलोत ने कहा है कि पायलट से उनकी पिछले डेढ़ साल से बातचीत नहीं हुई है. जबकि बता दें कि पायलट उनके मंत्रिमंडल में उप मुख्यमंत्री थे.



'उन्होंने कांग्रेस को धोखा दिया'
अशोक गहलोत ने कहा, 'मैं उनसे पिछले डेढ़ साल से बातचीत नहीं कर रहा हूं. जब से हमारी सरकार बनी है तभी से पायलट इसे गिराने का षडयंत्र रच रहे हैं. उन्हें पूरे मामले का समाधान निकालने के लिए पार्टी फोरम पर आना चाहिए था. लेकिन अब कुछ नहीं बचा है. उन्होंने उस पार्टी को धोखा दिया जिसने उन्हें सब कुछ दिया. महत्वाकांक्षी होना गलत नहीं है लेकिन बेईमानी करना गलत है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading