राजस्‍थान पंचायत चुनाव: कोरोना के डर पर लोकतंत्र का उत्सव रहा भारी, तीसरे चरण में 83.69% मतदान

सबसे अधिक मतदान जैसलमेर की ग्राम पंचायत में 91.38 फीसदी रहा. (सांकेतिक फोटो)
सबसे अधिक मतदान जैसलमेर की ग्राम पंचायत में 91.38 फीसदी रहा. (सांकेतिक फोटो)

Rajasthan Panchyat Election: 6 अक्टूबर को 975 ग्राम पंचायतों के सरपंच और पंच पदों के लिए मतदान किया गया. वोटिंग में लोगों ने बढ़-चढ़ कर हिस्‍सा लिया.

  • Share this:


जयपुर. राजस्थान में ग्राम पंचायत चुनाव (Gram Panchayat Election) के तीसरे चरण में एक बार फिर कोरोना के डर पर लोकतंत्र का उत्सव भारी रहा. तीसरे चरण में भी बंपर वोटिंग हुई. तीसरे चरण में करीब 84 फ़ीसदी मतदान (84 Percent Voting) हुआ. दूसरे चरण में भी लगभग 84 फ़ीसदी मतदान हुआ था. राज्य निर्वाचन आयोग ने तीसरे चरण के फाइनल आंकड़े जारी कर दिए हैं. तीसरे चरण में प्रातः 10 बजे तक 19.27% मतदान हुआ था. वहीं, प्रातः 12 बजे तक  38.81% मतदान हुआ. दोपहर 3 बजे तक 67.23% लोगों ने मतदान किया. 6 अक्टूबर को पंचायती राज संस्थाओं के तीसरे चरण की सभी 975 ग्राम पंचायतों में सरपंच और पंच पदों के लिए मतदान किया गया, जो शाम 5.30 बजे तक 82.07 फीसदी रहा. सरपंच (sarpanch) पदों के लिए 4906 और पंच पदों के लिए 10205 उम्मीदवार चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं, जबकि सरपंच के 32 और पंच के 5031 उम्मीदवारों को निर्विरोध चुन लिया गया है.

जैसलमेर में सबसे अधिक मतदान






सबसे अधिक मतदान जैसलमेर की ग्राम पंचायत में हुआ. यहां 91.38 फीसदी मतदाताओं ने वोट डाला. सबसे कम उदयपुर की सायला ग्राम पंचायत में 60.75 फीसदी मतदान हुआ. मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्याम सिंह राजपुरोहित ने कहा कि मतदान के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल की पालना की गई. अधिकारी पल-पल की अपडेट देते रहे. मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्याम सिंह राजपुरोहित ने शांतिपूर्ण, निष्पक्ष एवं पारदर्शी चुनाव के लिए मतदाताओं का आभार जताया है.





पहला चरण 28 सितंबर को पूरा हो चुका है, जबकि दूसरे चरण के लिए 3 अक्टूबर को मत डाला गया था. तीसरे चरण के लिए 6 अक्टूबर को वोटा डाला गया. चौथे चरण के लिए 10 अक्टूबर को वोटिंग होगी. चुनाव की घोषणा के साथ ही प्रदेश में आचार सहिंता लागू कर दी गई थी. बता दें कि पंचायत चुनाव अप्रैल माह में होने थे. हालांकि, कोरोना के कारण टल गए थे. बाद में कोर्ट द्वारा इन चुनाव को 15 अक्टूबर तक बढ़ा दिया गया था.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज