राजस्थान में सियासी ड्रामे की हैप्पी एंडिंग, जैसलमेर से जयपुर लौटे गहलोत गुट के कांग्रेस MLAs
Jaipur News in Hindi

राजस्थान में सियासी ड्रामे की हैप्पी एंडिंग, जैसलमेर से जयपुर लौटे गहलोत गुट के कांग्रेस MLAs
राज्य में सियासी ड्रामा एक महीने से ज्यादा चला, लेकिन आखिरकार इसका अंत होता हुआ अब नज़र आ रहा है.

सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) से नाराज सचिन पायलट (Sachin Pilot) और उनके समर्थक विधायकों ने बागी तेवर अपना लिया था. इसके बाद से राज्य सरकार पर संकट को देखते हुए विधायकों की बाड़ाबंदी की गई थी.

  • Share this:
जयपुर. एक महीने से ज्यादा समय तक चले राजस्थान (Rajasthan) के सियासी ड्रामे की लगभग हैप्पी एंडिंग हो चुकी है. जैसलमेर (Jaisalmer) से सभी विधायक एक विमान के जरिए जयपुर (Jaipur) पहुंच गए. सभी विधायको को बसों के जरिए एक बार फिर जयपुर के होटल फेयरमोंट रवाना कर दिया गया. बता दें कि राजस्थान में सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों के बागी तेवर के बाद सीएम अशोक गहलोत गुट के समर्थक कांग्रेसी विधायकों की बाड़ाबंदी कर दिया गया था. इन विधायकों को पहले जयपुर के फेयरमोंट और उसके बाद जैसलमेर के होटल में रोका ​गया था.

राज्य में सियासी ड्रामा एक महीने से ज्यादा चला, लेकिन आखिरकार इसका अंत होता हुआ अब नज़र आ रहा है. कांग्रेस के सभी विधायक जयपुर लौट आए हैं. सचिन पायलट के खेमे वाले विधायक पहले ही आ चुके हैं और अब गहलोत गुट भी जयपुर में है. सभी विधायकों ने एक सुर में कहा कि जीत उनकी हुई है. राज्य के परिवहन मंत्री प्रताम सिंह खाचरियावास ने कहा कि आखिरकार सत्या की जीत हुई है. प्रदेश में गहलोत सरकार को गिराने की मंशा रखने वालों को करारा जवाब मिला है.

इनकी भी वापसी
बता दें कि ना केवल विधायक जैसलमेर से जयपुर लौट आए. बल्कि विधायकों पर नज़र रखने वाले दिल्ली से आए नेता भी लौट चुके हैं. अजय माकन, रणदीप सुरजेवाला, अविनाश पांडे और काजी निजामुद्दीन भी जैसलमेर से जयपुर पहुंच चुके हैं. राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे का कहना है कि राजस्थान में सरकार को गिराने का प्रयास कुछ लोग कर रहे थे, लेकिन असफल हुए हैं. बहरहाल अब विधायक दल की बैठक होनी है. बैठक में आगे की रणनीति तय की जाएगी. सचिन पायलट की नई भूमिका क्या होगी और सीएम अशोक गहलोत और उनकी मुलाकात कैसी रहने वाली, इस पर सबकी नज़रे बनी रहेंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज