Rajasthan: कांग्रेस विधायक हरीश मीणा ने उठायी आरक्षण से जुड़ी युवाओं की यह बड़ी मांग, सीएम को लिखी चिट्ठी
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: कांग्रेस विधायक हरीश मीणा ने उठायी आरक्षण से जुड़ी युवाओं की यह बड़ी मांग, सीएम को लिखी चिट्ठी
विधायक हरीश मीणा ने कहा कि अन्य प्रदेशों के लोग यहां के युवाओं का हक छीन रहे हैं.

पड़ोसी राज्य हरियाणा की तर्ज पर अब राजस्थान में भी निजी क्षेत्र की नौकरियों में स्थानीय युवाओं को आरक्षण देने की मांग उठने लगी है.

  • Share this:
जयपुर. पड़ोसी राज्य हरियाणा (Haryana) की तर्ज पर अब राजस्थान में भी निजी क्षेत्र की नौकरियों में स्थानीय युवाओं को आरक्षण (Reservation) देने की मांग उठने लगी है. प्रदेश में सत्तारूढ़ दल कांग्रेस के विधायक हरीश मीणा (MLA Harish Meena) ने इस मुद्दे पर सीएम अशोक गहलोत को चिट्ठी लिखी है. हरीश मीणा ने सीएम को लिखी चिट्ठी में हरियाणा की तर्ज पर स्थानीय युवाओं को निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण देने और 'राजस्थान राज्य स्थानीय उम्मीदवार रोजगार अध्यादेश' लाने की मांग की है.

75 फीसदी आरक्षण का प्रावधान किया जाना चाहिए
अपने पत्र में हरीश मीणा ने लिखा कि प्रदेश के युवा धक्के खा रहे हैं और बाहर के प्रदेशों से आकर लोग यहां नौकरी कर रहे हैं. कोरोना लॉकडाउन में स्थानीय युवाओं के सामने रोजगार का संकट आ गया है. निजी क्षेत्र में 50 हजार से कम प्रतिमाह वेतन वाली नौकरियों में स्थानीय युवाओं को 75 फीसदी आरक्षण का प्रावधान किया जाना चाहिए.

Rajasthan: सरकार ने निजी स्कूलों पर लगाई लगाम, खुलने तक नहीं वसूल सकेंगे फीस
अन्य प्रदेशों के लोग यहां के युवाओं का हक छीन रहे हैं


हरीश मीणा ने सीएम को लिखे अपने पत्र में हरियाणा में हाल ही लागू की गई व्यवस्था का हवाला देते हुए कहा कि वर्तमान में कोरोना महामारी और आर्थिक मंदी के इस दौर में हमारे प्रदेश के लाखों युवा बेरोजगारी की वजह से दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हो रहे हैं. वहीं अन्य प्रदेशों के लोग यहां आकर नौकरियां कर रहे हैं. बाहरी प्रदेशों के लोग हमारे बेरोजगार युवकों का हक छीन रहे हैं. हरियाणा की भांति राजस्थान में भी निजी क्षेत्र में स्थानीय युवकों को 75 प्रतिशत आरक्षण अविलम्ब दिया जाये. इसके लिए अध्यादेश लाया जाये ताकि प्रदेश के बेरोजगार युवकों को उचित रोजगार मिल सके. मीणा का यह पत्र सोशल मीडिया में भी वायरल हो रहा है. मीणा अपनी बेबाक बयानबाजी के लिए जाने जाते हैं. इससे पहले वे एक मामले में अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने पर भी बैठ चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading