Hathras Gangrape Case : हाथरस की आग जयपुर तक, वैशालीनगर में डीएम के आवास पर कचरा फेंका

डीएम आवास पर फेंके गए कचरे को साफ करवाती पुलिस.
डीएम आवास पर फेंके गए कचरे को साफ करवाती पुलिस.

डीएम (DM) के मकान के बाहर जुटी भीड़ ने आवास के बाहर कचरा (garbage) फेंका है. यहां प्रदर्शन की खबर सुनने के बाद वैशालीनगर पुलिस मौके पर पहुंच गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 2, 2020, 8:14 PM IST
  • Share this:
जयपुर. हाथरस गैंगरेप मामले (Hathras Gangrape Case) की अनुगूंज देश के दूसरे राज्यों में भी सुनाई पड़ रही है. इसी क्रम में जयपुर (jaipur) से खबर आ रही है कि वहां के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट (DM) का लोगों ने विरोध किया है. जयपुर के वैशालीनगर में डीएम के आवास पर लोगों की भीड़ पहुंच गई. हालांकि उस मकान में अभी सिर्फ किराएदार रहते हैं. डीएम के मकान के बाहर जुटी भीड़ ने आवास के बाहर कचरा (garbage) फेंका है. यहां प्रदर्शन की खबर सुनने के बाद वैशालीनगर पुलिस मौके पर पहुंच गई है. सूत्रों ने कहा कि कचरा फेंकने वाला शख्स भीम आर्मी का है.

इस बीच, हाथरस में हुए कथित गैंगरेप और सफदरजंग दिल्ली में पीड़िता की मौत को लेकर आज भीम आर्मी (Bheem Army) ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया. शुक्रवार को गुरुग्राम में दलित संगठनों के साथ मिलकर अखिल भारतीय भीम सेना के सैनिक कमला नेहरू पार्क में इकठ्ठा हुए. जहां सैनिकों की संख्‍या देखकर गुरुग्राम के कई थानों की पुलिस दंगा विरोधी वाहनों के साथ तैनात रही.

कमला नेहरू पार्क से प्रदर्शन शुरू करते हुए भीम सैनिक अग्रसेन चौक से सदर बाजार गए जहां उन्‍होंने व्यापारियों से दुकानें बंद करने का आह्वान किया. हालांकि पहले से मौजूद पुलिस ने प्रदर्शन का नेतृत्‍व कर रहे भीमसेना प्रमुख नवाब सतपाल तंवर को हाइवे पर जाने से रोकने की कोशिश की. तब यूपी पुलिस और योगी सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए भीम आर्मी सैनिक पीड़ि‍ता के हत्‍यारों को फांसी देने का नारा लगाते रहे और यूपी के मुख्‍यमंत्री का पुतला भी जलाया. भीम आर्मी ने हाथरस कांड की जांच सीबीआई से कराने की भी मांग की.



इस बीच, आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक अजय दत्त ने हाथरस गैंगरेप केस की पीड़िता को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल (Safdarjung hospital) से ले जाने को पहुंची बिना नंबर की एम्बुलेंस (Ambulance) पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने पूछा कि अगर वह सरकारी एंबुलेंस थी तो उस पर नंबर क्यों नहीं था? विधायक अजय दत्त ने आरोप लगाते हुए कहा कि जब ये बात हमने अधिकारियों से पूछनी चाही तो उन्होंने मारपीट शुरू कर दी. AAP विधायक ने कहा कि वे कल सफदरजंग अस्पताल में पीड़ित परिवार के पास गए थे. विधायक ने कहा कि हाथरस गैंगरेप केस के पीड़ित परिवार को लगातार धमकी मिल रही थी. हमने वहां बिना नंबर प्लेट की एंबुलेंस को देखा. तब हमने पुलिस अधिकारियों से पूछा तो उन्होंने मेरी पिटाई कर दी. थप्पड़, लात, घूंसे मारे. अजय दत्त ने कहा, 'दो बार के विधायक (MLA) के साथ दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ऐसे पेश आती है. पीड़िता हमारे समाज से है. हम तो उनकी मदद के लिए जाएंगे. हमने पुलिस कमिश्नर को शिकायत दे दी है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज