सुर्खियां- बंधकों की किडनी बेचने की तैयारी में थे अपहरणकर्ता, उदयपुर में पुलिस फायरिंग में दो घायल

जयपुर के दूदू इलाके में अवैध बजरी के खिलाफ कार्रवाई करने गए एसडीएम पर पथराव कर दिया गया. वहीं उदयपुर में हत्याकांड के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर जमकर बवाल मचा. उपद्रवी भीड़ ने पुलिस के वाहनों और दो बसों को फूंक दिया.

News18 Rajasthan
Updated: July 16, 2019, 7:55 AM IST
सुर्खियां- बंधकों की किडनी बेचने की तैयारी में थे अपहरणकर्ता, उदयपुर में पुलिस फायरिंग में दो घायल
फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
News18 Rajasthan
Updated: July 16, 2019, 7:55 AM IST
प्रदेश में बजरी माफिया फिर बेखौफ हो गए हैं. जयपुर के दूदू इलाके में अवैध बजरी के खिलाफ कार्रवाई करने गए एसडीएम पर पथराव कर दिया गया. वहीं उदयपुर में हत्याकांड के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर जमकर बवाल मचा. उपद्रवी भीड़ ने पुलिस के वाहनों और दो बसों को फूंक दिया. दिनभर चले इस उपद्रव में करीब ढाई दर्जन लोग घायल हो गए. विधानसभा में मंत्री विश्वेन्द्र सिंह की टिप्प्णी पर बवाल हो गया. प्रदेश कांग्रेस में एक बार फिर 'एक व्यक्ति, एक पद' पर बहस छिड़ गई है. जयपुर से मंगलवार को प्रकाशित विभिन्न समाचार-पत्रों में ये अहम सुर्खियां जगह बनाए हुए हैं.

उपद्रव में चार थानाप्रभारियों समेत 30 लोग घायल
दैनिक भास्कर ने उदयपुर में रमेश पटेल हत्याकांड को लेकर हुए उपद्रव की खबर को प्रमुखता देते हुए बताया है कि भीड़ ने पुलिस के वाहनों समेत दो बसों को फूंक दिया. दिनभर चले इस उपद्रव में चार थानाप्रभारियों समेत 30 लोग घायल हो गए. वहीं पुलिस की फायरिंग में दो अन्य प्रदर्शनकारी घायल हो गए. अखबार ने बजरी माफियाओं की मनमर्जी पर प्रकाशित खबर में बताया है कि दूदू में अवैध बजरी के खिलाफ कार्रवाई करने गए एसडीएम पर पथराव कर दिया गया. इसमें चार सिपाही घायल हो गए. अखबार ने शिक्षा विभाग से जुड़ी अहम खबर में बताया है कि संस्कृत शिक्षा में 10,877 में से 3617 पद खाली चल रहे हैं.

हिरासत में मौत पर विधानसभा में बवाल

राजस्थान पत्रिका ने जयपुर में पकड़ी गई हरियाणा की अपहरण गैंग का फॉलोअप देते हुए बताया है कि गैंग का सरगना एक डॉक्टर है. अपहरणकर्ता बंधक बनाए गए युवकों की किडनी बेचने की तैयारी में थे. अखबार ने सरदारशहर में पुलिस हिरासत में हुई मौत के मामले में विधानसभा में मचे बवाल को भी प्रमुखता दी है. इसके साथ ही अखबार ने राजधानी जयपुर के जयपुरिया अस्पताल में रेजिडेंट डॉक्टर्स के साथ हुई मारपीट की घटना के बारे में बताया है कि वहां रविवार देर रात एक युवक की मौत से गुस्साए लोगों ने इमरजेंसी पर धावा बोल दिया और चिकित्सकों से कहा कि उसे जिंदा करो.

अधिवक्ता मी-लॉर्ड ना कहें
अंग्रेजी समाचार-पत्र THE TIMES OF INDIA ने भी उदयपुर में हुए उपद्रव की खबर को अहमियत देते हुए उसे प्रथम पृष्ठ पर रखा है. वहीं अखबार ने राजस्थान हाईकोर्ट के उस आदेश को भी प्रमुखता से प्रकाशित किया है जिसमें कहा गया है कि अधिवक्ता मी-लॉर्ड शब्द का उपयोग ना करें.
Loading...

उदयपुर में उपद्रव: पथराव, आगजनी, लाठीचार्ज और हवाई फायर

BMW से करते थे किडनैप, टॉर्चर में कान-अंगुली तक काट देते

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 16, 2019, 7:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...