अपना शहर चुनें

States

राजस्थान: 30 जनवरी से लॉन्च होगी स्वास्थ्य बीमा योजना, कोविड-19 और हीमोडायलिसिस भी होंगे शामिल

योजना के लाभार्थियों को 5 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध होगा.
योजना के लाभार्थियों को 5 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध होगा.

सीएम गहलोत राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर 30 जनवरी को प्रदेश के 1 करोड़ 10 लाख परिवारों की स्वास्थ्य सुरक्षा (Health Protection) के लिये आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना के नए चरण का शुभारंभ करेंगे.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में 30 जनवरी से आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना (Health Insurance Plan) के नए चरण की लॉन्चिंग की जायेगी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर 30 जनवरी को प्रदेश के 1 करोड़ 10 लाख परिवारों की स्वास्थ्य सुरक्षा की दृष्टि से इस महत्वाकांक्षी योजना का शुभारंभ करेंगे. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने वित्त विभाग के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है.

सरकार ने आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना के पैकेज की सूची में कोविड-19 और हीमोडायलिसिस रोगों को भी शामिल करने का निर्णय लिया है. इन दो बीमारियों के मरीजों के लिये भी स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार प्रतिवर्ष लगभग 41 करोड़ रुपए अतिरिक्त वहन करेगी.





5 लाख रुपए तक का है स्वास्थ्य बीमा कवर
राजस्थान हेल्थ इंश्योरेंस एजेंसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरूणा राजौरिया ने बताया कि बीमा योजना के नवीन चरण में इलाज के लिए उपलब्ध पैकेजेज की संख्या बढ़ाकर 1572 की गई है. योजना के लाभार्थियों को 5 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध होगा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को कोरोना टीकाकरण की समीक्षा के दौरान इस प्रस्ताव को मंजूरी दी.

पहले दिन 73.79 फीसदी हैल्थ वर्कर्स को टीका लगाया
सीएम ने कहा कि पहले दिन 73.79 प्रतिशत हैल्थ वर्कर्स को टीका लगाया गया है. यह राष्ट्रीय औसत 63.66 प्रतिशत से करीब 10 प्रतिशत अधिक है. चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया ने बताया कि आरयूएचएस में भर्ती कोविड रोगियों की संख्या केवल 24 रह गई है. प्रदेश में पहले दिन 167 केन्द्रों पर 12 हजार 258 स्वास्थ्यकर्मियों ने टीका लगवाया. उन्होंने बताया कि जोधपुर, अजमेर, बूंदी तथा अलवर में तो टीकाकरण का शत-प्रतिशत लक्ष्य हासिल किया गया है. उन्होंने बताया कि जिन्हें वैक्सीन लगनी है उन्हें मोबाइल एसएमएस तथा फोन कॉल्स के जरिए सूचित किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज