CM गहलोत पर उनके ही मंत्री ने कसा तंज, कहा-आपने विदेशी प्रवासियों से VC कर ली, अब...
Jaipur News in Hindi

CM गहलोत पर उनके ही मंत्री ने कसा तंज, कहा-आपने विदेशी प्रवासियों से VC कर ली, अब...
सीएम ने प्रवासियों की ज्यादा आवक वाले जिलों में कोराना जांच सुविधाओं को मजबूत करने के निर्देश दिए. (फाइल फोटो)

राजस्थान सरकार में खाद्य मंत्री रमेश मीणा (Ramaesh Meena) ने कहा कि आपने विदेशी प्रवासियों से तो वीसी कर ली अब प्रवासी मजदूरों से भी वीसी कर लीजिए. इस पर सीएम अशाोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कहा कि प्रवासी मजदूरों से आप वीसी करवा दीजिए तो हम कर लेंगे.

  • Share this:
जयपुर. सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) की मंत्री, विधायकों और सांसदों के साथ वीडियो कॉलिंग के जरिए रखी गई सर्वदलीय चर्चा (All Party Discussion) में तीन मंत्रियों के तेवरों की चर्चा सियासी हलकों में जोरों पर है. वीसी के दौरान आपदा राहत मंत्री मास्टर भंवरलाल (Bhanwarlal) , खाद्य मंत्री रमेश मीणा (Ramesh Meena) और पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने जिस अंदाज में अपनी बात कही, वह कई राजनीतिक इशारे करती हैं. खाद्य मंत्री रमेश मीणा (Ramaesh Meena) ने कहा कि आपने विदेशी प्रवासियों से तो वीसी कर ली अब प्रवासी मजदूरों से भी वीसी कर लीजिए. इस पर सीएम अशाोक गहलोत ने कहा कि प्रवासी मजदूरों से आप वीसी करवा दीजिए तो हम कर लेंगे.

रमेश मीणा ने कहा कि लॉकडाउन को करीब 47 दिन हो गए और हमें समय रहते प्रवासियों को राज्य वापस लाना होगा. बाहर फंसे प्रवासी मजदूर बहुत परेशान हैं. उन्होंन कहा कि दक्षिण भारत में चावल खाया जाता है लेकिन हमारे मजदूरों के खानपान में चावल नहीं है इसलिए दक्षिण भारत के राज्यों में फंसे हमारे मजूदर भूखे मरने की हालत में आ गए हैं.

'प्रवासी मजदूर चले जाएंगे तो उद्योग चलाना हो जाएगा मुश्किल'



रमेश मीणा ने कहा कि सारे प्रवासी मजदूर चले जाएंगे तो उद्योग धंधे चलाना बहुत मुश्किल होगा. अब चीन छोड़कर जा रही कंपनियों को लाने की बातें चल रही है इससे हमारे यहां के उद्योग धंधे भी चौपट हो सकते हैं. रिसर्जेंट राजस्थान जैसे कार्यक्रम से भी निवेश नहीं आ पाया. आप गरीबों के गांधी कहे जाते हैं इसलिए आप दूसरे राज्यों में फंसे गरीबों को पहले प्रदेश लेकर आइये.
मजदूरों और प्रवासियों को आबादी से दूर क्वारंटाइन करें: भंवरलाल

चूरू जिले के सांसद-विधायकों से चर्चा के दौरान आपदा राहत मंत्री मास्टर भंवरलाल ने कहा कि बाहर से आने वाले मजदूरों और प्रवासियों को घर में नहीं आबादी से दूर क्वारन्टाइन में रखा जाए. चूरू जिले में बाहर से आने वालों ने ही कोरोना फैलाया है. चूरू के गांवों में लोग लट्ठ लेकर बैठे हैं, वे कह रहे हैं कि बाहर से आने वालों को गांव में नहीं जाने देंगे, हमारे लिए आप दुविधा मत पैदा कीजिए.

मेघवाल ने जलदाय विभाग को निशाने पर लिया

मेघवाल ने बाहर से आने वालों के लिए होम क्वारंटाइन की जगह संस्थागत क्वारन्टाइन का सुझाव दिया. मेघवाल ने जलदाय महकमे को भी निशाने पर लिया और कहा, जनता जल योजना में पंप हाउस और ट्यूबवेल की मोटर्स सबमर्सिबल खराब पड़े हैं, जलदाय मंत्री बीडी कल्ला उन्हें ठीक करवाएं. कोई मजदूर पैदल नहीं निकले, मजदूरों को चाहे कैंप में रखें या बस से छोड़ें लेकिन कोई सड़क पर पैदल नहीं जाए और बाहर से आने वालों को स्कूला आदि में रखा जाए. विश्वेंद्र सिंह ने राज्य मंत्री भजनलाल जाटव से कहा कि मुझसे तो आप कह रहे थे ओलावृष्टि से नुकसान हुआ और अब यहां इनकार कर रहे हो.

भरतपुर संभाग के विधायकों से चर्चा के दौरान पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह और गृहरक्षा राज्य मंत्री भजनलाल जाटव की अलग अलग राय चर्चा में रही. विश्वेंद्र सिंह ने ओलावृष्टि से हुए नुकसान का मुद्दा रखा जिस पर भजनलाल जाटव ने कहा कि मेरे यहां ओलावृष्टि नहीं हुई तो नुकसान की बात नहीं उठती है. इस पर विश्वेंद्र सिंह ने कहा कि मेरे सामने तो कह रहे थे कि ओलावृष्टि से नुकसान हुआ है पर अब यहां सीएम के सामने न कहना चाहो तो अलग बात है.

ये भी पढ़ें: Rajasthan: प्रदेश के लाखों बच्चे आज से रेडियो के जरिेये करेंगे पढ़ाई

सोमवार को है शादी.. लेकिन प्रशासन ने दूल्हे को बारात ले जाने की नहीं दी परमिशन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज