Home /News /rajasthan /

honeytrap case indian army soldier stuck in love of 2 beauties of pakistani agency isi giving secret information rjsr

Honeytrap Case: पाकिस्तानी एजेंसी ISI की 2 हसीनाओं के प्रेम जाल में फंसा सैन्यकर्मी, गिरफ्तार

भारतीय सेना के जवान को हनीट्रेप में फंसाने वाली एजेंटों ने उसे अपना नाम निशा और गुरनूर कौर उर्फ अंकिता  बताया था.

भारतीय सेना के जवान को हनीट्रेप में फंसाने वाली एजेंटों ने उसे अपना नाम निशा और गुरनूर कौर उर्फ अंकिता बताया था.

भारतीय सेना का एक और जवान हनीट्रेप: पाकिस्तानी गुप्तचर एजेंसी आईएसआई लड़कियों के जरिये भारतीय सेना (Indian Army) के जवानों को प्रेम जाल (Honeytrap) के भंवर में फंसाकर उनसे सेना से जुड़ी अहम सूचनायें लेने का लगातार प्रयास कर रहा है. इसी कड़ी में जयपुर में तैनात एक सैन्यकर्मी शांतिमोय राणा को पाकिस्तान की दो हसीनाओं ने अपने प्रेम जाल में फंसा लिया और उससे गुप्त सूचनायें लेने लगी. इंटेलीजेंस पुलिस ने सैन्यकर्मी को गिरफ्तार कर लिया है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

पाकिस्तानी लड़कियों ने खुद को मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस और नर्सिंग सर्विस में बताया
इंटेलीजेंस 'ऑपरेशन सरहद' के नाम से अभियान चलाकर ऐसी गतिविधियों पर नजर रख रही है

विष्णु शर्मा.

जयपुर. भारतीय सेना (Indian Army) का एक और जवान पाकिस्तानी महिला जासूसों के हनीट्रेप (Honeytrap) का शिकार हो गया है. पाकिस्तान के लिए जासूसी कर रहे इस सैन्यकर्मी को जयपुर इंटेलीजेंस यूनिट की पुलिस ने गिरफ्तार किया है. यह सैन्यकर्मी सोशल मीडिया के जरिये भारतीय सेना की गोपनीय जानकारी जुटा रही थी पाकिस्तानी गुप्तचर एजेंसी आईएसआई की महिला एजेंटों के लिए जासूसी कर रहा था. गिरफ्त में आया सैन्यकर्मी शांतिमोय राणा है. वह पश्चिम बंगाल का रहने वाला है. वह मार्च 2018 में भारतीय सेना में भर्ती हुआ था. इसके बाद उसकी पोस्टिंग राजस्थान में हुई थी.

जयपुर इंटेलीजेंस यूनिट की पुलिस के मुताबिक शांतिमोय राणा पिछले कुछ महीनों से सोशल मीडिया के जरिये पाकिस्तान की दो महिला एजेंटों के संपर्क में था. खुद को मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस और नर्सिंग सर्विस में बताकर उन्होंने शांतिमोय राणा से दोस्ती की थी. इन एजेंटों ने अपना नाम गुरनूर कौर उर्फ अंकिता और निशा बताया था.

गोपनीय दस्तावेजों के फोटोग्राफ और युद्धाभ्यास के वीडियो मांगने लगी
इनमें एक एजेंट ने खुद को उत्तरप्रदेश की रहने वाली बताते हुए मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस में होना बताया. वहीं दूसरी एजेंट ने खुद को मिलिट्री नर्सिंग सर्विस में होना बताया. इस तरह दोनों ने सैन्यकर्मी शांतिमोय को हनीट्रेप में फंसा लिया. उसे रुपयों के लालच और प्रेमजाल में फंसाने के बाद भारतीय सेना से संबंधित गोपनीय दस्तावेजों के फोटोग्राफ और युद्धाभ्यास के वीडियो मंगवाने लगी.

ऑपरेशन सरहद के नाम से चलाया जा रहा है अभियान
डीजी इंटेलीजेंस उमेश मिश्रा ने बताया कि ऑपरेशन सरहद के नाम से चलाए गए अभियान के तहत पाकिस्तानी गुप्तचर एजेंसियों के लिए की जाने वाली जासूसी गतिविधियों पर नजर रखी जाती है. इसमें सैन्यकर्मी शांतिमोय राणा के पाकिस्तानी महिला एजेंटों के संपर्क में होने की जानकारी मिली. इस पर शांतिमोय को 25 जुलाई को हिरासत में लिया. पूछताछ के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. उससे पूछताछ की जा रही है.

पहले भी कई पाक महिला जासूस हनीट्रेप कर चुकी हैं
उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी कई पाकिस्तानी महिला जासूस भारतीय सेना के जवानों और कर्मचारियों को अपने जाल में फंसाकर उन्हें हनीट्रेप कर चुकी है. इनकी फेहरिस्त काफी लंबी है. हनीट्रेप में फंसे कई जवान पहले भी पकड़े जा चुके हैं. यह पूरा काम सोशल मीडिया के जरिये होता है.

Tags: Crime News, Honey Trap, Indian army, Jaipur news, Pakistan Spy, Rajasthan news

अगली ख़बर