राजस्थान में अब पीपीपी मोड पर संचालित नहीं होंगे अस्पताल, सरकार खुद चलायेगी

चिकित्सा मंत्री ने यह भी कहा कि प्रदेश के 15 नये सरकारी मेडिकल कॉलेजों में बिल्डिंग का काम दो साल में पूरा कर 2023 से शैक्षणिक सत्र की शुरुआत कर दी जाएगी.

चिकित्सा मंत्री ने यह भी कहा कि प्रदेश के 15 नये सरकारी मेडिकल कॉलेजों में बिल्डिंग का काम दो साल में पूरा कर 2023 से शैक्षणिक सत्र की शुरुआत कर दी जाएगी.

Assembly Budget Session: राजस्थान में अब पीपीपी मोड (PPP mode) पर अस्पतालों का संचालन नहीं किया जायेगा. चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने विधानसभा में आज इस संबंध में पूछे गये एक सवाल के जवाब में इसका खुलासा किया.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में पीपीपी मोड (PPP mode) पर संचालित किए जा रहे चिकित्सालयों (Hospitals) को अब राज्य सरकार खुद चलाएगी. चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा है कि समय अवधि पूरी हो जाने पर इनका रिन्युअल नहीं किया जाएगा और राज्य सरकार खुद इन्हें चलाएगी. गुरुवार को विधानसभा (Assembly) में प्रश्नकाल के दौरान विधायक रीटा चौधरी द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में चिकित्सा मंत्री ने यह जानकारी दी.

चिकित्सा मंत्री ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार ने साल 2015-16 के बजट में 70 पीएचसी और शहरी क्षेत्रों में संचालित 26 यूपीएचसी पीपीपी मोड पर संचालित करने की घोषणा की थी. उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के पास डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ नहीं था. इसके चलते यह निर्णय लिया गया था. लेकिन अब राज्य सरकार ने पर्याप्त भर्ती कर ली है और अब इन्हें पीपीपी मोड पर संचालित करने की जरुरत नहीं है. इन चिकित्सालयों के 2016 और 2017 में एमओयू किए गए थे. अब जैसे ही इनका टर्म खत्म होगा इन्हें राज्य सरकार संचालित करेगी.

Youtube Video


मेडिकल कॉलेजों का काम 2 साल में होगा पूरा
चिकित्सा मंत्री ने एक सवाल के जवाब में यह भी कहा कि प्रदेश के 15 नये सरकारी मेडिकल कॉलेजों में बिल्डिंग का काम दो साल में पूरा कर 2023 से शैक्षणिक सत्र की शुरुआत कर दी जाएगी. विधायक संयम लोढा ने सिरोही मेडिकल कॉलेज को लेकर सवाल पूछा था. इसका जवाब देते हुये चिकित्सा मंत्री ने कहा कि आरएसआरडीसी को कार्यकारी एजेंसी नियुक्त कर एमओयू सम्पादित किया जा चुका है.

दो साल के भीतर शैक्षणिक सत्र शुरू कर दिया जायेगा

मंत्री ने बताया कि इसके लिये जहां डीपीआर अनुमोदित की जा चुकी है वहीं 5 करोड़ की अग्रिम राशि भी उपलब्ध करवाई जा चुकी है. उन्होंने कहा कि इसी सप्ताह टेण्डर कर जल्द कार्य शुरू कर दिया जाएगा. चिकित्सा मंत्री ने कहा कि केवल सिरोही मेडिकल कॉलेज में ही नहीं बल्कि सभी नए 15 मेडिकल कॉलेज में दो साल के अन्दर बिल्डिंग पूरी कर पहला बैच शुरू कर दिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज