• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • REET Paper Leak: पृथ्वीराज मीणा ने किए सनीसनीखेज खुलासे, अब इन 3 प्वॉइंट पर हो रही जांच

REET Paper Leak: पृथ्वीराज मीणा ने किए सनीसनीखेज खुलासे, अब इन 3 प्वॉइंट पर हो रही जांच

REET पेपर उपलब्ध करवाने वाला मुख्य सरगना पृथ्वीराज

REET पेपर उपलब्ध करवाने वाला मुख्य सरगना पृथ्वीराज

REET Paper Leak Case: राजस्थान पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) को आशंका है कि पेपर लीक मामले में बड़ी मिलीभगत हो सकती है. माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से पेपर बिश्नोई गैंग तक कैसे पहुंचा, इसकी जांच की जा रही है. यह भी जांच की जा रही है कि यह पेपर किसी परीक्षा केंद्र से बाहर निकला या बोर्ड से.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान में रीट भर्ती परीक्षा में पेपर लीक के मामले में अब बिश्नोई गैंग से तार जुड़े हुए नजर आ रहे हैं. राजस्थान पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने इस मामले में एक इंजीनियर पृथ्वीराज मीणा को गिरफ्तार किया है. पृथ्वीराज मीणा ने पूछताछ में बताया कि उसने पेपर बिश्नोई गैंग से 40 लाख में खरीदा और एक सेंटर पर 12-12 लाख में परीक्षार्थियों को बेचा था. अब एसओजी इस जांच में जुटी है कि आखिर राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से रीट का पेपर बिश्नोई गैंग के पास कैसे पहुंचा और क्या यह पेपर पूरे राजस्थान में बंट गया था. इसी बीच में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मंगलवार को जयपुर में विरोध-प्रदर्शन कर इस परीक्षा को रद्द करने और शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को बर्खास्त करने की मांग की.

जयपुर में आज राजस्थान विश्वविद्यालय के गेट के बाहर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों ने जमकर बवाल काटा और रीट भर्ती परीक्षा को रद्द करने और शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को हटाने की मांग की छात्रों की. इस नाराजगी की वजह लगातार रीट भर्ती परीक्षा में पेपर लीक में सामने आ रहे खुलासे हैं. इस बीच में पुलिस ने हंगामा करने वाले छात्रों को हिरासत में लेकर प्रदर्शन खत्म करवाया.

इस भर्ती परीक्षा में अब तक पुलिस यह मान कर चल रही थी की बत्तीलाल मीणा मास्टरमाइंड है जिसे पुलिस ने केदारनाथ से गिरफ्तार किया लेकिन बत्तीलाल से पूछताछ में खुलासे ने राजस्थान पुलिस के सामने नया संकट खड़ा कर दिया. पूछताछ में बत्ती लाल ने बताया कि उसने पेपर टोंक में कार्यरत जेईएन पृथ्वीराज मीणा से खरीदा था. पुलिस ने पृथ्वीराज मीणा और उसके दो साथियों को आगरा से गिरफ्तार किया. पृथ्वीराज मीणा ने पूछताछ में बताया कि उसने पेपर पश्चिम राजस्थान में काम कर रही बिश्नोई गैंग से 40 लाख रुपये में खरीदा था और फिर उसके बाद में प्रश्नों के उत्तरों के साथ टोंक के एक स्कूल में अट्ठारह परीक्षार्थियों को यह पेपर 12-12 लाख रुपये में बेचा था. अब एसओजी बिश्नोई गैंग की तलाश कर रही है.

एसओजी इन प्वॉइंट पर कर रही जांच
एसओजी को आशंका है कि पेपर लीक मामले में बड़ी मिलीभगत हो सकती है. माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से पेपर बिश्नोई गैंग तक कैसे पहुंचा, इसकी जांच की जा रही है. यह भी जांच की जा रही है कि यह पेपर किसी परीक्षा केंद्र से बाहर निकला या बोर्ड से. क्या पेपर राजस्थान के कई परीक्षा केंद्रों तक पहुंच चुका था? अगर जांच में साबित हो जाता है कि यह पेपर सिर्फ गिने-चुने परीक्षा केंद्र या परीक्षार्थियों को ही नहीं, बड़े पैमाने पर बंटा है तो फिर इस परीक्षा पर खतरा मंडरा जाएगा. इस परीक्षा में 16.5 लाख परीक्षार्थी बैठे थे. ये राजस्थान की सबसे बड़ी भर्ती परीक्षा थी.

इस बीच में राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा है कि जांच एजेंसी पूरे मामले की जांच कर रही है और जल्दी हकीकत सबके सामने होगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज