लाइव टीवी
Elec-widget

IAS और IPS अफसर की दोस्ती प्यार में बदली, चर्चा में है मंदिर में हुई शादी

Babulal Dhayal | News18 Rajasthan
Updated: November 26, 2019, 2:29 PM IST
IAS और IPS अफसर की दोस्ती प्यार में बदली, चर्चा में है मंदिर में हुई शादी
इस सादगी भरी शादी की चर्चा देशभर में हो रही है.

जयपुर (Jaipur) में रविवार को एक अनूठी शादी देखने को मिली. एक युवा आईएएस (IAS) जितेंद्र ने अपनी साथी आईपीएस (IPS) अधिकारी आंचल से सादगी से मंदिर में शादी की. उनकी सादगी भरी शादी की चर्चा देशभर में हो रही है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान की राजधानी जयपुर (Jaipur) में रविवार को एक अनूठी शादी देखने को मिली. एक युवा आईएएस (IAS) ने अपनी साथी आईपीएस (IPS) अधिकारी से सादगी से मंदिर में शादी की. दोनों की महाराष्ट्र (Maharashtra) में पोस्टिंग है और इस शादी में गिने चुने मेहमान और परिवारजन ही शामिल हुए. इसी के साथ आईपीएस अधिकारी आंचल और आईएएस जितेन्द्र इक-दूजे के हो गए. जितेन्द्र राजस्थान (Rajasthan) के झुन्झुनूं (Jhunjhunu) जिले के रहने वाले हैं, तो आंचल पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शामली की रहने वाली हैं.

जितेन्द्र आईएएस है, तो आंचल आईपीएस अफसर, दोनों की महाराष्ट्र में पोस्टिंग है. जानकारी के अनुसार, ट्रेनिंग के दौरान दोनों की दोस्ती हुई और बाद में यही दोस्ती प्यार में बदल गई. रविवार को दोनों एक दूजे के हो गए, वो भी सादगी से. जितेन्द्र को पहले झारखंड कैडर मिला, तो आंचल को महाराष्ट्र. लेकिन जब दोनों ने शादी का फैसला किया, तो जितेन्द्र का तबादला भी महाराष्ट्र कैडर में हो गया.

वैदिक रीति रिवाज से हुआ विवाह
दोनों ने सनातन परंपराओं के मुताबिक विवाह बंधन में बंधने का फैसला किया. इसलिए न कोई तड़क भड़क, न दिखावा. सब कुछ सादगी को समर्पित. वैदिक रीति रिवाज से ऐसा विवाह हुआ, जिसमें प्राचीन भारत के विवाह संस्कारों की झलक दिखाई दी.

गिनती के थे बाराती
शादी समारोह में गिनती के बाराती थे. वर और वधु पक्ष की ओर से चुनिंदा मेहमानों को ही बुलाया गया था. परिवारजनों से ज्यादा दोनों के प्रशासनिक अधिकारी शादी में ज्यादा पहुंचे थे. शादी में किसी भी तरह का दहेज दूल्हे की ओर से नहीं लिया गया. मकसद खर्चीली शादी के नाम पर पैसे की बर्बादी को रोकना भी था.

इस युवा जोड़े ने सादगी से विवाह जैसे संस्कार की रस्में निभाई, साथ ही इस दौरान अमर बलिदानियों को भी याद किया गया. भारत माता के जयकारे लगे और साथ में जन्म जन्म तक साथ साथ रहने की सौंगध खाई गई. उम्मीद है, आंचल और जितेन्द्र की शादी कई और युवाओं को इस तरह विवाह करने के लिए प्रेरित करेगी.
Loading...

ये भी पढ़ें- 

अजमेर में 5 लाख का दहेज मांगा तो दूल्हन ने किया निकाह से इनकार

मां की इच्छा पूरी करने गांव से हेलिकॉप्टर से बारात लेकर निकला दूल्हा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 25, 2019, 9:48 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...