राजस्थान: IAS कुंजीलाल मीणा ने राजा भगीरथ से की CM अशोक गहलोत की तुलना

आईएएस मीणा जब सीएम गहलोत की तारीफ कर रहे थे तो वे मंद-मंद मुस्कुरा रहे थे.

आईएएस मीणा जब सीएम गहलोत की तारीफ कर रहे थे तो वे मंद-मंद मुस्कुरा रहे थे.

Bureaucracy and Politics: यूडीएच के प्रमुख सचिव कुंजीलाल मीणा (IAS Kunjilal Meena) ने सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की तारीफ करते हुए उनकी तुलना राजा भगीरथ से की है. मीणा ने कहा कि सीएम गहलोत के कार्यों को हजारों साल तक याद किया जाएगा.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान कैडर के आईएएस कुंजीलाल मीणा (IAS Kunjilal Meena) ने सीएम अशोक गहलोत की तुलना राजा भगीरथ से की है. यूडीएच के प्रमुख सचिव कुंजीलाल मीणा ने जिस अंदाज में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) की तारीफकी है वह सियासी और प्रशासनिक हलकों में चर्चा का विषय बना हुआ है. तेज हो गई है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पद संभालते ही कुंजीलाल मीणा के सीएम टू सेक्रेटरी बनने की चर्चा चली थी. अब जिस अंदाज में कुंजीलाल मीणा ने सीएम की तारीफ की है उससे ब्यूरोक्रेसी में एक बार फिर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है. आमतौर पर आईएएस अफसर इतना खुलकर तारीफ करने से बचते रहे हैं.

मीणा बोले- सीएम गहलोत को हजारों साल तक याद किया जाएगा

यूडीएच के प्रमुख सचिव कुंजीलाल मीणा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की यह तारीफ विकास कार्यों के वर्चुअल शिलान्यास और लोकार्पण कार्यक्रम में की. मीणा ने कहा कि जिस रूप में गंगा मैया को शिवजी की जटाओं से धरती पर उतारने में राजा भगीरथ के प्रयासों को आज भी याद किया जाता है उसी तर्ज पर मारवाड़ और राजस्थान में विकास की गंगा को उतारने के कारण मुख्यमंत्री गहलोत को हजारों बरसों तक याद किया जाता रहेगा
तब गहलोत मंद-मंद मुस्कुरा रहे थे

मीणा ने कहा की जोधपुर शहर के विकास लिए भी उन्हें हजारों साल याद किया जाता रहेगा. सन 1980 से लेकर अब तक अलग अलग पदों पर रहते हुए गहलोत ने लगातार जो कार्य किए हैं उन्हें जोधपुर ही नहीं राजस्थान की जनता भी याद करती रहेगी. मुख्यमंत्री की वजह से आज जोधपुर विश्व के नक्शे पर आ गया है. राष्ट्रीय स्तर की जो संस्थाएं जोधपुर में हैं वे मुख्यमंत्री की देन हैं. मीणा जिस वक्त गहलोत की तारीफ कर रहे थे उस समय वे मंद-मंद मुस्करा रहे थे..

जानें कौन थे महाराजा भगीरथ



महाराज भगीरथ अयोध्या के राजा थे. वे राजा दिलीप के पुत्र और महाराज अंशुमान के पौत्र थे. अंशुमान महाराज सगर के पुत्र थे. महाराज भगीरथ को ब्रह्माण्ड की पवित्र नदी गंगा को धरती पर लाने का श्रेय दिया जाता है. कहा जाता है कि गंगा को भगीरथ अपने पूर्वजों के मोक्ष के लिए लाए थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज