Rajasthan Crisis : बागी विधायकों पर नरम पड़े गहलोत ने कहा, गर आलाकमान माफ कर दे उन्हें, तो हम भी लगा लेंगे गले
Jaipur News in Hindi

Rajasthan Crisis : बागी विधायकों पर नरम पड़े गहलोत ने कहा, गर आलाकमान माफ कर दे उन्हें, तो हम भी लगा लेंगे गले
सीएम अशोक गहलोत (बाएं) ने बागियों को संदेश दिया कि वे आलाकमान से माफी मांगें और उन्हें माफ कर दिया जाए तो मैं भी गले लगा लूंगा.

सीएम कहा कि राजस्थान में जो लोग सरकार को अस्थिर करने की साजिश में लगे थे, वे अगर आलाकमान के पास अपनी चूक स्वीकारते हैं और आलाकमान की ओर से उन्हें माफी मिल जाती है तो मैं भी उन्हें गले लगा लूंगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2020, 5:22 PM IST
  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में जारी राजनीतिक संकट (Political Crisis) के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) कांग्रेस के बागियों (rebels) पर सॉफ्ट होते नजर आ रहे हैं. उन्होंने अपने एक ताजा बयान में कहा कि बागियों को माफ करने की बात कही है. उन्होंने कहा कि राजस्थान में जो लोग सरकार को अस्थिर करने की साजिश में लगे थे, वे अगर आलाकमान के पास अपनी चूक स्वीकारते हैं और आलाकमान की ओर से उन्हें माफी मिल जाती है तो मैं भी उन्हें गले लगा लूंगा. मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि बीजेपी चुनी हुई सरकारों को गिराने के खेल में लगी है और लोकतंत्र (Democracy) को बचाने के लिए हमें यह सब करना पड़ रहा है. यह सब करते हुए हमें अच्छा नहीं लगता.

'शाह का नाम इसीलिए लेता हूं'

इससे पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर राज्य की सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाते हुए कहा कि अमित शाह हर वक्त सरकार गिराने के बारे में सोचते हैं. उन्होंने कहा, 'अमित शाह का नाम मैं बार-बार इसलिए लेता हूं कि फ्रंट पर वे ही आते हैं. याद करें, मामला चाहे कर्नाटक का रहा हो, एमपी, गोवा, मणिपुर या अरुणाचल प्रदेश का - बीजेपी की ओर से हर बार मोर्चा उन्होंने ही संभाला है. इसीलिए मजबूरी में कहना पड़ता है कि अमित शाह जी आपको क्या हो गया है? आप रात-दिन, जागते-सोते हर वक्त सोचते हो कि किस तरह मैं सरकार को गिराऊं.'



'लोकतंत्र नहीं रहेगा तो देश का क्या होगा'
उन्होंने कहा, 'चुनी हुई सरकारें यदि इस तरह से गिरने लगेंगी, तो देश में लोकतंत्र कहां बचेगा? पूरे देश के अंदर डेमोक्रेसी बचाने का अभियान हम चला रहे हैं. डेमोक्रेसी बचे, पार्टियां आएंगी-जाएंगी, सरकारें बनेंगी-जाएंगी, व्यक्ति आएंगे जाएंगे, लेकिन लोकतंत्र नहीं रहेगा तो देश का क्या होगा?' ध्यान होगा कि लगभग एक महीना होने को है, लेकिन राजस्थान का सियासी संकट खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को समर्थन देने वाले कांग्रेस के सभी विधायकों को फिलहाल जैसलमेर शिफ्ट किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading