अपना शहर चुनें

States

Rajasthan: राज्य सेवा के अधिकारी 2 माह से ज्यादा के लिए छुट्टी पर गए तो रिक्त माना जाएगा पद

RAS अफसरों पर यह नियम पहले से ही लागू है.
RAS अफसरों पर यह नियम पहले से ही लागू है.

New circular of state government: अशोक गहलोत सरकार ने लापरवाह अधिकारियों और कर्मचारियों पर कसा शिकंजा. वित्त विभाग के नए सर्कुलर के मुताबिक 2 माह से ज्यादा समय तक छुट्टी पर रहने वाले अधिकारी (State service officer) के पद पर दूसरे की होगी तैनाती.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) ने एक परिपत्र जारी कर लापरवाह सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों पर शिकंजा कस दिया है. राज्य के वित्त विभाग (Finance department) की ओर से जारी परिपत्र के अनुसार राज्य सेवा के अधिकारी 2 माह से ज्यादा समय अवकाश पर गए, तो उनका पद रिक्त (Post vacant) माना जाएगा और उनके स्थान पर अन्य अधिकारियों को पदस्थापन कर दिया जाएगा. राज्य सरकार का नया आदेश राजस्थान राज्य एवं अधीनस्थ सेवाएं (संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा द्वारा सीधी भर्ती) कार्मिकों पर लागू होगा.

सभी विभागाध्यक्ष को जारी किया परिपत्र
परिपत्र में सभी विभागाध्यक्ष को निर्देशित किया गया है कि राजस्थान राज्य एवं अधीनस्थ सेवाएं नियम- 1999 के अंतर्गत आने वाले राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अतिरिक्त राजस्थान राज्य सेवा के अधिकारियों के किसी भी प्रकार के अवकाश 2 माह की अवधि से अधिक के हैं तो ऐसे अधिकारी के स्वीकृत अवकाश की प्रति अपने प्रशासनिक विभाग को भिजवाना सुनिश्चित करें.

Goodbye Year 2020: राजनीतिक रण के 'रणजीत' अशोक गहलोत के आगे चुनौतियों का पहाड़



RAS अफसरों पर नियम पहले से ही लागू
राज्य के कार्मिक विभाग ने राज्य प्रशासनिक सेवा के अफसरों पर हाल ही में यह नियम लागू किया गया था. कार्मिक विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार यदि कोई आरएएस अफसर 2 माह की अवधि से ज्यादा अवकाश पर गए हैं तो उनका पद रिक्त मना माना जाएगा और उनके स्थान पर अन्य आरएएस अफसर को पदस्थापित कर दिया जाएगा.

विभागों का कामकाज खासा प्रभावित होता है
सरकार की इस कवायद का उद्देश्य ऐसे लापरवाह अधिकारियों पर शिंकजा कसना है जिनकी लंबी अवधि के अवकाश और लापरवाही से विभागों का कामकाज प्रभावित होता है. लंबी अवधि के अवकाश के कारण आमजन से जुड़े विभागों का कामकाज खासा प्रभावित होता है. इन स्थितियों पर काबू पाने के लिये सरकार ने यह अहम कदम उठाया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज