लाइव टीवी

गहलोत कैबिनेट की अहम बैठक कल, पंचायत चुनाव से जुड़े इस बड़े मुद्दे पर लग सकती है मुहर

Prem Meena | News18 Rajasthan
Updated: December 10, 2019, 7:31 PM IST
गहलोत कैबिनेट की अहम बैठक कल, पंचायत चुनाव से जुड़े इस बड़े मुद्दे पर लग सकती है मुहर
हालांकि कैबिनेट सचिवालय ने बैठक का कोई आधिकारिक एजेंडा जारी नहीं किया है, लेकिन माना जा रहा है कि पंचायत चुनाव में दो संतान की बाध्यता संबंधित संशोधन का कैबिनेट अनुमोदन कर सकती है.

अशोक गहलोत कैबिनेट (Ashok Gehlot Cabinet) की बुधवार को अहम बैठक (Importent meeting) होगी. बैठक सुबह 10 बजे जयपुर (Jaipur) में सीएमओ में होगी. पंचायत चुनाव की घोषणा से पहले हो रही इस बैठक में सरकार प्रदेशवासियों को बड़ी सौगात (Big Gift) दे सकती है.

  • Share this:
जयपुर. अशोक गहलोत कैबिनेट (Ashok Gehlot Cabinet) की बुधवार को अहम बैठक (Importent meeting) होगी. बैठक सुबह 10 बजे राजधानी जयपुर (Jaipur) में मुख्यमंत्री कार्यालय में होगी. इसके बाद 11:30 बजे मुख्यमंत्री कार्यालय में ही मंत्री परिषद की बैठक (Council of Ministers meeting) होगी. पंचायत चुनाव की घोषणा से पहले हो रही इस बैठक में राज्य सरकार प्रदेशवासियों को बड़ी सौगात (Big Gift) दे सकती है. सूत्रों के अनुसार कैबिनेट की बैठक के बाद सत्ता और संगठन की बैठक में कांग्रेस (Congress) की दिल्ली में प्रस्तावित रैली पर भी मंथन किया जाएगा. किसानों (Farmers) को दीर्घकालीन ऋण योजना पर भी कैबिनेट विचार कर सकती है.

बैठक में इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा
हालांकि बैठक को लेकर कैबिनेट सचिवालय ने कोई आधिकारिक एजेंडा जारी नहीं किया है, लेकिन माना जा रहा है कि पंचायत चुनाव में दो संतान की बाध्यता संबंधित संशोधन का कैबिनेट अनुमोदन कर सकती है. सरकार ने स्थानीय निकाय के चुनाव में भी शैक्षणिक बाध्यता को हटा दिया था. इसके अलावा मोहल्ला क्लीनिक, निरोगी काया अभियान और भामाशाह कार्ड की जगह जन आधार कार्ड लागू करने पर कैबिनेट निर्णय ले सकती है. वहीं एक सप्ताह बाद सरकार की पहली वर्षगांठ है. उससे जुड़े कार्यक्रमों पर चर्चा होने की संभावना है.

सरकार की पहली वर्षगांठ पर हो सकती है घोषणा

उल्लेखनीय है कि अशोक गहलोत सरकार पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार का एक और अहम निर्णय को बदलने की तैयारी कर रही है. यह निर्णय पंचायत चुनाव से जुड़ा है. राज्य सरकार पंचायत चुनाव में दो से अधिक संतान होने पर चुनाव नहीं लड़ सकने की बाध्यता को हटा सकती है. इसके लिए सरकार अयोग्यता संबंधी नियम में बदलाव करने की तैयारी कर रही है. सूत्रों की मानें तो सरकार में इसके लिए उच्च स्तर पर पिछले काफी समय से मंथन चल रहा है. सीएम अशोक गहलोत सरकार की पहली वर्षगांठ पर इसकी घोषणा कर सकते हैं.

बीजेपी सरकार ने यह किया था संशोधन
पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार ने अपने कार्यकाल में एक कानून लाकर दो से अधिक संतान होने पर स्थानीय निकाय एवं पंचायतीराज संस्थाओं में चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी थी. इसके लिए राजस्थान पंचायतीराज अधिनियम-1994 की धारा-19 में संशोधन कर दो से अधिक संतान होने पर पंचायत चुनाव लड़ने के लिए अयोग्यता संबंधी प्रावधान किया गया था.पंचायत चुनाव: हट सकता है 2 से अधिक संतान होने पर चुनाव नहीं लड़ पाने का नियम

पंचायत चुनाव: तय समय पर होना मुश्किल ! नियुक्त हो सकते हैं प्रशासक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 7:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर