लाइव टीवी
Elec-widget

गहलोत मंत्रिपरिषद की अहम बैठक आज, कई निर्णयों पर लग सकती है मुहर

Prem Meena | News18 Rajasthan
Updated: December 1, 2019, 9:28 AM IST
गहलोत मंत्रिपरिषद की अहम बैठक आज, कई निर्णयों पर लग सकती है मुहर
सर्कुलेशन के जरिए किए गए निर्णयों का बैठक में अनुमोदन हो सकता है.

अशोक गहलोत मंत्रिपरिषद (Ashok Gehlot Council of Ministers) की बैठक रविवार को सुबह 10.30 बजे मुख्यमंत्री आवास (CMR) पर होगी. बैठक में कई महत्पूर्ण निर्णय (Important decision) लिए जा सकते हैं. पिछले दिनों सर्कुलेशन के जरिए किए गए निर्णयों का इस बैठक में अनुमोदन हो सकता है.

  • Share this:
जयपुर. गहलोत मंत्रिपरिषद (Gehlot Council of Ministers) की बैठक रविवार को सुबह 10.30 बजे मुख्यमंत्री आवास (CMR) पर होगी. बैठक में सभी कैबिनेट और राज्य मंत्रियों को बुलाया गया है. बैठक में कई महत्पूर्ण निर्णय (Important decision) लिए जा सकते हैं. बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) करेंगे. कैबिनेट सचिवालय ने सभी मंत्रियों को बैठक की सूचना भिजवा दी है.

पिछले दिनों सर्कुलेशन के जरिए कई अहम नीतिगत निर्णय लिए गए हैं
सूत्रों के अनुसार पिछले दिनों सर्कुलेशन के जरिए किए गए निर्णयों का इस बैठक में अनुमोदन हो सकता है. सरकार ने हाल ही में सर्कुलेशन के जरिए कई अहम नीतिगत निर्णय लिए हैं. कृषक ऋण माफी योजना के लिए सहकारी बैंक से 2 हजार करोड़ रुपए का लोन लेने का निर्णय सर्कुलेशन के जरिए किया गया था. इस पर बैठक में मुहर लग सकती है. वहीं राजस्थान अधीनस्थ न्यायालय के सेवा नियम-2017 में संशोधन का अनुमोदन भी किया जा सकता है. इसके साथ ही प्रतापगढ़ जिले के कर्मदी खेड़ा में सरकार ने केंद्रीय विद्यालय के लिए निशुल्क जमीन दी है. उसका भी बैठक में अनुमोदन किए जाने की संभावना है.

सरकार कैबिनेट की बैठकें नियमित रूप से करना चाहती है

उल्लेखनीय है कि विभागों को जब भी कोई नीतिगत फैसला लेना होता है तो उसे अनुमोदन के लिए कैबिनेट के पास भिजवा दिया जाता है. गहलोत सरकार को कैबिनेट की बैठकों के लिए समय ही नहीं मिल पाया. इसलिए प्रदेश में नई सरकार बनने के बाद पिछले 11 महीनों में अशोक गहलोत सरकार को ज्यादातर फैसले सर्कुलेशन के जरिए ही करने पड़े हैं.

कैबिनेट की करीब 5 बैठकें ही हो पाई हैं
इस दौरान कैबिनेट की करीब 5 बैठकें ही हो पाई हैं. विभागों में कार्यों को रफ्तार मिल सके इसलिए सरकार कैबिनेट की बैठकें नियमित रूप से करना चाहती हैं. ताकि बड़े फैसलों पर सर्कुलेशन के बजाय कैबिनेट में चर्चा की जा सके.
Loading...

अजमेर: बैंक लोन में गारंटर बनना पड़ सकता है भारी, सोच समझकर लें गारंटी 

दौसा: ग्रामीणों ने कोटा पुलिस को जमकर पीटा, कपड़े फाड़े, देखें वीडियो

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 6:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...