Rajasthan: किसानों के लिए अहम खबर, ऐसे उठाएं 'मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना' का फायदा

दुर्घटना के शिकार किसान इस योजना का लाभ लेकर आर्थिक संबल पा सकते हैं.

Chief Minister Krishak Sathi Yojana: सीएम अशोक गहलोत ने हाल ही में प्रदेश के किसानों को बड़ी सौगात दी है. 'मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना' में किसान खेती के दौरान होने वाले हादसों में जान गंवाने पर या विकलांग होने पर सरकार से आर्थिक संबल पा सकते हैं. जानिये कैसे…

  • Share this:
जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से हाल में अपने बजट भाषण में की गई राजस्थान 'मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना' (Chief Minister Krishak Sathi Yojana) जल्द ही मूर्त रूप लेने जा रही है. सरकार ने योजना के लिये 2000 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया है. इस योजना के माध्यम से यदि खेती की गतिविधियों के दौरान किसान की मृत्यु हो जाती है या फिर उसे किसी प्रकार की स्थायी विकलांगता का सामना करना पड़ता है, तो उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी.यह आर्थिक सहायता 50 हजार रुपये से लेकर 2 लाख रुपये तक होगी.

सीएम गहलोत की ओर से प्रदेश के किसानों के लिये शुरू की गई यह योजना उनके लिये संजीवनी साबित होगी. क्योंकि प्रदेश में प्रतिवर्ष कृषिजनित कार्यों के दौरान होने वाले हादसों में कई किसानों की मौत हो जाती है या कई उम्र भर विकलांगता का दंश झेलने को मजबूर हो जाते हैं. ऐसे में दुर्घटना के शिकार किसान अथवा उनके परिजन इस योजना का लाभ लेकर आर्थिक संबल पा सकते हैं.

योजना से जुड़ी जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध
योजना से जुड़ी जानकारी ऑनलाइन भी उपलब्ध है. किसान वहां से भी इसके संबंध में पूरी जानकारी ले सकते हैं. किसान इस बात का ध्यान रखें कि आवेदन करने से पहले वे उसके नियमों और शर्तों को ध्यानपूर्वक पढ़ लेवें ताकि बाद में किसी तरह की किसी समस्या का सामना नहीं करना पड़े.

योजना के लिए ऐसे करें आवेदन
- सर्वप्रथम आपको अपने जिले के कृषि विभाग में जाना होगा.
- आपको वहां से ‘राजस्थान मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना’ का आवेदन-पत्र लेना होगा.
- आपको आवेदन- पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारियां जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, एड्रेस आदि ध्यानपूर्वक दर्ज करना होगा.
- इसके पश्चात आपको आवेदन- पत्र से सभी जरूरी और महत्वपूर्ण दस्तावेज लगाने होंगे.
- अब आपको यह आवेदन-पत्र कृषि विभाग में जमा करना होगा.
- इसके पश्चात् आपके द्वारा जमा किए गए दस्तावेजों का सत्यापन किया जाएगा.
- सत्यापन के बाद आर्थिक सहायता की राशि किसान के खाते में पहुंचा दी जाएगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.