राजस्थान के सरकारी स्कूलों में अभिनंदन की शौर्य गाथा, 9वीं कक्षा में होगा एक चैप्टर

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 9वीं कक्षा की सोशल साइंस की किताब में 'राष्ट्रीय सुरक्षा एवं शौर्य पराक्रम' नामक अध्याय में विंग कमांडर अभिनंदन की शौर्य गाथा को शामिल किया है.

News18 Rajasthan
Updated: May 17, 2019, 11:53 AM IST
राजस्थान के सरकारी स्कूलों में अभिनंदन की शौर्य गाथा, 9वीं कक्षा में होगा एक चैप्टर
राजस्थान की सरकारी स्कूलों में बच्चे पढ़ेंगे अभिनंदन की शौर्य गाथा
News18 Rajasthan
Updated: May 17, 2019, 11:53 AM IST
पाकिस्तानी लड़ाकू विमान एफ-16 को मार गिराने वाले वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन की शौर्य गाथा को राजस्थान की कांग्रेस सरकार स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल कर रही है. राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 9वीं कक्षा की सोशल साइंस की किताब में 'राष्ट्रीय सुरक्षा एवं शौर्य पराक्रम' नामक अध्याय में विंग कमांडर अभिनंदन की शौर्य गाथा को शामिल किया है.

मालूम हो कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना द्वारा की गई एयर स्ट्राइक को लेकर राजनीतिक पार्टियां एक-दूसरे पर सवाल उठाती रही हैं. कांग्रेस समेत अधिकांश विपक्षी दलों ने इसको लेकर दावे करने वाले दलों से सबूत भी मांगे थे.



राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा का कहना है कि जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन के सम्मान में उनकी बहादुरी की कहानी स्कूल के पाठ्यक्रम में शामिल की जाएगी. डोटासरा का कहना है कि अभिनंदन ने राजस्थान के जोधपुर में ही स्कूली शिक्षा हासिल की और अब पाकिस्तान द्वारा सकुशल वापस लौटाए जाने के बाद उनकी पहली पोस्टिंग भी राजस्थान के सूरतगढ़ में होना प्रदेश के लिए गौरव की बात है.

अशोक गहलोत सरकार ने अभिनंदन से जुड़े अध्याय में पुलवामा अटैक के बाद भारतीय सेना द्वारा पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के कैंप पर हमले करने की भी बात लिखी है. हालांकि, इसमें केंद्र सरकार और मारे गए आतंकियों का उल्लेख नहीं किया गया है.

9वीं कक्षा की सामाजिक विज्ञान की पुस्तक में भारतीय सैनिकों के शौर्य, साहस, पराक्रम और बलिदान की गाथाओं से जुड़ा एक अलग अध्याय जोड़ा गया है. इसमें लिखा गया है कि राजस्थान में तो शहीदों की लोक देवताओं के रूप में पूजा होती है. भारतीय सेना सैन्य धर्म एवं चरित्रगत आचरण के लिए जानी जाती है. शिक्षा विभाग के अधिकारियों के मुताबिक पाठ्यक्रम में अध्याय शामिल करने के साथ ही अब तक के विभिन्न युद्धों में प्रदेश से शहीद हुए जवानों को लेकर लाइब्रेरी में भी साहित्य उपलब्ध कराया जाएगा.

ये भी पढ़ें:- छात्र-छात्राओं की हालत देख हैरान रह गई छापेमार टीम 

ये भी पढ़ें:- RBSE 12th Arts Result LIVE: राजस्थान रिजल्ट यहां चेक करेंएक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार