COVID-19: गहलोत सरकार ने नियम किए सख्त, तोड़ा तो देना पड़ेगा भारी जुर्माना
Jaipur News in Hindi

COVID-19: गहलोत सरकार ने नियम किए सख्त, तोड़ा तो देना पड़ेगा भारी जुर्माना
कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार को रोकने के लिए सीएम अशोक गहलोत ने उठाए सख्त कदम

राजस्थान में कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ़्तार को रोकने के लिए सीएम अशोक गहलोत ने Social Distancing से लेकर सैनीटाइजेशन, फेस मास्क की अनिवार्यता का सख्ती से पालन कराये जाने के निर्देश दिए हैं. नियमों का उल्लंघन करने पर दो सौ से लेकर 10 हजार तक का जुर्माना भी लगया जाएगा.

  • Share this:
जयपुर. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus Pandemic) के प्रदेश में बढ़ते मामलों से चिंतित राजस्थान की गहलोत सरकार (Gehlot Government) ने अब अनलॉक 3.0 (unlock 3.0) लागू होने से पहले राष्ट्रीय महामारी अध्यादेश 2020 (National Pandemic Ordinance-2020)  की धारा-11 के तहत  प्रदत्त शक्तियों से नियम बेहद सख्त कर दिए हैं.

बता दें कि राज्य के गृह विभाग ने अलग-अलग चार अधिसूचना जारी कर नियमों को लेकर निर्देश जारी कर दिए हैं. गृह विभाग ग्रुप-5 द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार कोई भी व्यक्ति लोक परिवहन (public transport) जैसे बस, ऑटो, कैब, रिक्शा, ट्रेन आदि में फेस मास्क (face mask) या फेस कवर (face cover) जिसमें नाक और मुंह समुचित रूप से ढका हुआ हो नहीं पहने पाए जाने पर ₹200 का जुर्माना लगाया जाएगा.

ये अधिकारी भी कार्रवाई के लिए अधिकृत
गृह विभाग ग्रुप-5 द्वारा जारी अधिसूचना के तहत राष्ट्रीय महामारी अध्यादेश 2020 की धारा 9 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए राज्य सरकार ने जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, जिला परिवहन अधिकारी, जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक और रीको इकाई के प्रमुख को उनकी अधिकारिता के भीतर कार्रवाई करने के लिए अधिकृत किया गया है.
ये भी पढ़ें- गोरखपुर कांड के बाद योगी सरकार पर हमलावर हुआ विपक्ष, अखिलेश यादव ने कहा 'No More BJP'




 

इन नियमों में कोताही पर 10 हजार तक देना होगा जुर्माना
राष्ट्रीय महामारी अध्यादेश 2020 की धारा 11 के तहत मिली प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए राज्य सरकार ने कार्य स्थलों पर कार्य अवधि के दौरान नियमित रूप से सैनिटाइजेशन सामाजिक दूरी का पालन नहीं कराए जाने पर 10 हजार रुपये के जुर्माने का प्रावधान किया है. दरअसल राज्य सरकार को प्रदेश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए भारी भरकम जुर्माना राशि लगानी पड़ी है. क्योंकि संक्रमण की रफ़्तार में बेहद तेजी से इजाफा हो रहा है जबकि आमतौर पर यह देखने में आया है कि कार्य स्थल पर समय अवधि के दौरान भी लोग महामारी की गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं. कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार तरह-तरह के उपाय कर रही है. इसके बावजूद भी प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading