• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्थान में आज से 108 और 104 एंबुलेंस सेवा ठप, अनिश्चितकाल तक संचालन रुका

राजस्थान में आज से 108 और 104 एंबुलेंस सेवा ठप, अनिश्चितकाल तक संचालन रुका

 प्रदेश की 1400 एंबुलेंस के पहिए थम गए हैं.

प्रदेश की 1400 एंबुलेंस के पहिए थम गए हैं.

कर्मचारियों को आरोप है कि सरकार की ओर निकाली गई नई निविदा कर्मचारियों के हित में नहीं है. इसके विरोध में वो अनिश्चितकालिन हड़ताल (Indefinite Strike) पर चले गए हैं.

  • Share this:
    जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में आज यानी गुरुवार सुबह छह बजे से 108 (108 Ambulance) और 104 एंबुलेंस (104 Ambulance) सेवाएं अनिश्चितकाल तक के लिए ठप हो गई हैं. राजस्थान कर्मचारी संघ के आह्वान पर एंबुलेंस कर्मचारी सरकार की नई निविदा के विरोध में हड़ताल (Strike) पर चले गए हैं. इससे प्रदेश भर की 1400 एंबुलेंसों के पहिए थम गए हैं. कर्मचारियों को आरोप है कि सरकार की ओर निकाली गई नई निविदा कर्मचारियों के हित में नहीं है. इसके विरोध में उन्होंने अनिश्चितकालिन हड़ताल (Indefinite Strike) का रुख किया है. जीवन वाहिनी कहलाने वाली एंबुलेंस के कर्मचारियों की इस हड़ताल का असर आम जनता पर पड़ना तय है. उधर, कर्मचारियों (Ambulance Drivers) ने कहा है कि जब तक उनकी सात सूत्रीय मांगें नहीं मानी जाएंगी तब तक हड़ताल (Ambulance Strike) जारी रहेगी.



    इन मांगों पर थमे एंबुलेंस के पहिए

    108 और 104 एंबुलेंस सेवा के लिए सरकार अलग से रिसीवर नियुक्त करे
     नई निविदा में वर्तमान में कार्यरत कर्मचारियों को ही सेवा में रखा जाए
     एंबुलेंस ईएमटी (नर्सिंगकर्मी) बढ़ाया जाए और पायलट (ड्राइवर) का वेतन 14,000 रुपए किया जाए
     कर्मचारियों का वेतन हर साल 10 प्रतिशत बढ़ाया जाए
     जहां एंबुलेंस रखी जाती हैं वहां कर्मचारियों को मूलभूत सविधा दी जाएं
     श्रम कानून के तहत कर्मचारियों का कार्य समय 8 घंटे किया जाए

    ये भी पढ़ें- 

    डेयरी चेयरमैन पर यौन शोषण के आरोप लगाने वाली युवती को धमकी

    सीएम गहलोत से मिले BJP प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया, ये दो किताबें की भेंट

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज