Home /News /rajasthan /

अभिनव पहल: नवनिर्वाचित संरपंचों ने केन्द्रीय अधिकारियों ने किया सीधा संवाद, सेतु बने सांसद राज्यवर्धन

अभिनव पहल: नवनिर्वाचित संरपंचों ने केन्द्रीय अधिकारियों ने किया सीधा संवाद, सेतु बने सांसद राज्यवर्धन

वर्कशॉप में ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेट्री ने सरपंचों को योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी.

वर्कशॉप में ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेट्री ने सरपंचों को योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी.

सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ (Rajyavardhan Singh Rathore) ने अपने संसदीय क्षेत्र में हाल ही में चुने गए चुनिंदा सरपंचों (sarpanches) के लिए दिल्ली (Delhi) में एक वर्कशॉप (Workshop) का आयोजन किया. इसमें ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेट्री ने सरपंचों को योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी.

अधिक पढ़ें ...
जयपुर. लोकतंत्र में पंचायतों (Panchayats) को गांव की सरकार भले ही कहा जाता हो, लेकिन कई बार गांव की सरकार के जनप्रतिनिधि (Public representative) जानकारी के अभाव में विकास को अमलीजामा पहनाने से चूक जाते हैं. व्यवस्थाओं को समझने का प्रयास कर रहे सरपंचों को कई बार तो पंचायत समिति और जिला परिषद में बैठे बाबू और अधिकारी ही जानकारी (Information) नहीं देते हैं. उनकी इस समस्या को हल करने और पंचायत राज तथा सरकारी योजनाओं के बेहतर क्रियान्यन के लिए सोमवार को दिल्ली (Delhi) एक वर्कशॉप (Workshop) का आयोजन किया गया. इस वर्कशॉप के सेतु बने जयपुर ग्रामीण सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ (Rajyavardhan Singh Rathore). इस वर्कशॉप में गांव की सरकार ने सीधा पंचायती राज मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेट्री और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से संवाद किया. वर्कशॉप में करीब ढाई दर्जन सरपंच शामिल हुए.

जनप्रतिनिधियों और ब्यूरोक्रेट्स दोनों के लिए नया अनुभव
सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने अपने संसदीय क्षेत्र में हाल ही में चुने गए चुनिंदा सरपंचों के लिए दिल्ली में एक वर्कशॉप का आयोजन किया. इसमें ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेट्री ने सरपंचों को योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी. धरातल पर काम करने के तरीके और मॉनिटरिंग के बारे में बताया. गांव की सरकार के जनप्रतिनिधियों और दिल्ली में बैठे ब्यूरोक्रेट्स दोनों के लिए यह अनुभव एकदम नया था. वर्कशॉप में केंद्र सरकार के नुमाइंदों ने गांव की सरकार के जनप्रतिनिधियों को व्यवस्था में हुए परिवर्तन, योजनाओं की जियो टैगिंग, पंचायत के वार्षिक प्लान, ऑनलाइन पेमेंट और योजनाओं के लिए फंड्स की उपलब्धता के बारे में जानकारी दी.

राठौड़ ने कहा इसके बेहतर परिणाम मिलेंगे.
वर्कशॉप में सरपंचों को संबोधित करते हुए राज्यवर्धन सिंह ने कहा कि देश में सबसे महत्वपूर्ण सरकार पंचायत होती है. सभी को अपने अपने क्षेत्र मे जाकर इस जानकारी को क्रियान्वित करने की आवश्यकता है. जयपुर ग्रामीण का विकास भी जयपुर शहर से तेज हो सकता है बशर्ते क्रियान्वयन पर ध्यान दिया जाए. राठौड़ ने कहा यह एक नया प्रयास है और उम्मीद है इसके बेहतर परिणाम मिलेंगे.

ऑनलाइन सिस्टम का अधिक से अधिक उपयोग करें
पंचायतीराज मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेट्री आलोक कुमार ने बताया कि जागरुकता के अभाव में सरपंच को विकास कार्यों में तरह तरह की समस्याएं आती हैं. प्रयास किया गया है कि ऑनलाइन सिस्टम का अधिक से अधिक उपयोग कर अब सरपंच आसानी से विकास कार्य करवा सकेंगे.
वहीं ग्रामीण विकास संयुक्त सचिव संजीब पटजोशी ने कहा कि सरपंचों को 14वें और 15वें वित्त आयोग के बारे में जानकारी दी और योजनाओं के बारे में विस्तृत रूप से बताया है. उन्हें यह भी बताया गया कि वह किस तरह से अपनी पंचायत में काम करवा सकते हैं.

काफी कुछ सीखने को मिला
जयपुर ग्रामीण लोकसभा क्षेत्र से दिल्ली पहुंचे जाहोता सरपंच श्याम प्रताप सिंह राठौड़ ने इसे बेहद उपयोगी बताते हुए कहा कि इस तरह की वर्कशॉप में भाग लेकर वे अपनी पंचायत में विकास के कामों को बेहतर तरीके से अंजाम दे सकेंगे. बिलपुरा सरपंच सायर सिंह शेखावत ने कहा कि उन्हें इस वर्कशॉप में आकर पंचायती राज के कामकाज के बारे में काफी कुछ सीखने को मिला है.



विधानसभाध्यक्ष ने फिर अपनाया कड़ा रुख, मंत्री धारीवाल को दिए ये निर्देश



जयपुर: परिवहन विभाग में ACB की कार्रवाई से गरमाया सियासी पारा

Tags: Delhi, Jaipur news, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर