होम /न्यूज /राजस्थान /इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस की डिमांड बढ़ी, जानिये क्या है इसे बनवाने की पूरी प्रक्रिया

इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस की डिमांड बढ़ी, जानिये क्या है इसे बनवाने की पूरी प्रक्रिया

इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन विदेश में पढ़ने जाने वाले छात्र या व्यापारी ज्यादा कर रहे हैं.

इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन विदेश में पढ़ने जाने वाले छात्र या व्यापारी ज्यादा कर रहे हैं.

How to get International Driving License: राजस्थान में इन दिनों इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस की डिमांड बड़ी तेजी से बढ़ी ...अधिक पढ़ें

जयपुर. अगर आप विदेश यात्रा (Foreign Trip) पर जा रहे हैं और आपको वहां पर कार चलानी है तो आप जयपुर से अपना इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस (International driving license) बनवाकर विदेश यात्रा कर सकते हैं. दुनिया के किसी भी देश में यहां बने लाइसेंस को दिखाकर आप कार ड्राइव कर सकते हैं. राजधानी जयपुर के क्षत्रीय परिवहन कार्यालय में इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस की बनवाने की मांग लगातार बढ़ती जा रही है. हालांकि राष्ट्रीय लाइसेंस की तुलना में इसकी संख्या ना के बराबर है लेकिन पिछले एक साल में ही यहां 800 से ज्यादा इंटरनेशनल लाइसेंस बनाए गये हैं. इससे साफ जाहिर है कि विदेश जाने वाले लोग अब इसमें ज्यादा दिलचस्पी दिखा रहे हैं.

जयपुर आरटीओ राजेश वर्मा के मुताबिक इस लाइसेंस के आवेदन के लिए आवेदक के पास राष्ट्रीय लाइसेंस पहले से होना चाहिए. उसके बाद पासपोर्ट, वीजा और मेडिकल सर्टिफिकेट भी जरुरी है. ये सारे कागजात जमा करवाने पर आपको 2 हजार की फीस देनी पड़ेगी और एक ही दिन में आपको इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस मिल जाएगा.

एक साल के लिए ही मान्य होता है यह लाइसेंस
हालांकि ये लाइसेंस सिर्फ एक साल के लिए विदेशों में मान्य होगा. इस लाइसेंस को रिन्यू करवाने के लिए आपको फिर से भारत आना पड़ेगा या फिर इस लाइसेंस को विदेश में दिखाकर वहां का नया लाइसेंस भी बनवाया जा सकता है. लाइसेंस के लिए आवेदन विदेश में पढ़ने जाने वाले छात्र या व्यापारी ही कर रहे हैं.

केवल आरटीओ ही जारी करता है इंटरनेशनल लाइसेंस
इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस देने का कानूनी अधिकार केवल आरटीओ को होता है. राज्य में जहां भी आरटीओ दफ्तर है वहां पर इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस बनवाया जा सकता है. फिलहाल विदेश जाने वालों में यहीं से लाइसेंस बनवाकर जाने की दिलचस्पी बढ़ती जा रही है और आरटीओ ऑफिस में आवेदनों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है.

विदेश जाने वाले स्टूडेंट्स के लिये यह काफी जरुरी भी हो गया है
आरटीओ ऑफिस के अधिकारियों का कहना है कि विदेश जाने वाले लोग अब इंटरनेशनल लाइसेंस के प्रति खासा रुचि दिखा रहे हैं. अब वो विदेश जाने से पहले सभी तैयारियां पूरी करके जाते हैं ताकि वक्त बे वक्त उन्हें किसी चीज के लिये परेशान नहीं होना पड़े. विदेशों में पढ़ने जाने वाले स्टूडेंट्स के लिये यह काफी जरुरी भी हो गया है. क्योंकि वे वहां लंबे समय तक रहते हैं. ऐसे में उन्हें सेल्फ ड्राइविंग भी कई बार करनी पड़ती है.

Tags: Driving license, Jaipur news, Rajasthan latest news, Rajasthan news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें