जयपुर: हाईकोर्ट के नवनियुक्त 6 नए जज कल जोधपुर मुख्यपीठ में लेंगे शपथ, अभी भी 23 पद रिक्त
Jaipur News in Hindi

जयपुर: हाईकोर्ट के नवनियुक्त 6 नए जज कल जोधपुर मुख्यपीठ में लेंगे शपथ, अभी भी 23 पद रिक्त
राजस्थान हाई कोर्ट में न्यायाधीशों के 50 पद स्वीकृत हैं. लेकिन वर्तमान में हाई कोर्ट में केवल 21 जज ही कार्यरत हैं.

लंबे इंतजार के बाद राजस्थान हाईकोर्ट (Rajasthan High Court) को न्यायिक कोटे से 6 नए जज मिल गए हैं. शुक्रवार को राजस्थान हाई कोर्ट की मुख्यपीठ जोधपुर में मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत माहांती (CJ Indrajit mahanti) इन सभी नव नियुक्त न्यायाधीशों को शपथ (Oath) दिलाएंगे.

  • Share this:
जयपुर. लंबे इंतजार के बाद राजस्थान हाईकोर्ट (Rajasthan High Court) को न्यायिक कोटे से 6 नए जज मिल गए हैं. शुक्रवार को राजस्थान हाई कोर्ट की मुख्यपीठ जोधपुर में मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत माहांती (CJ Indrajit mahanti) इन सभी नव नियुक्त न्यायाधीशों को शपथ (Oath) दिलाएंगे. 6 नए जजों के नियुक्ति के बाद अब राजस्थान हाई कोर्ट में जजों की संख्या 27 हो जाएगी. हाला‌ंकि अभी भी रिक्त पदों की संख्या 23 रहेगी.

बुधवार रात जारी हुए थे वारंट
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार देर रात डीजे सतीश कुमार शर्मा, रामेश्वर व्यास, देवेन्द्र कच्छवाहा, सीके सोनगरा और सेवानिवृत डीजे प्रभा शर्मा तथा मनोज कुमार व्यास की नियुक्ति के वारंट जारी किए थे. राष्ट्रपति से मंजूरी के बाद केन्द्रीय कानून एवं न्याय मंत्रालय ने इसकी अधिसूचना भी जारी कर दी थी.

28 मई 2018 को भेजे गए थे नाम
28 मई 2018 को राजस्थान हाईकोर्ट कॉलेजियम ने डीजे कोटे से 11 और एडवोकेट कोटे से 9 नाम सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम को भेजे थे. हाईकोर्ट कॉलेजियम द्वारा भेजे गये डीजे कोटे के 11 नाम में से 2 डीजे एनएस ढड्डा और अभय चतुर्वेदी की 1 अप्रैल 2019 को नियुक्ति हाईकोर्ट जज के रूप में हो गई थी. वहीं रिकंसीडरेशन के बाद 23 जनवरी 2020 को सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने 6 डीजे के साथ 1 एडवोकेट का नाम केन्द्र सरकार को भेजा था. इसमें से केन्द्र सरकार ने फिलहाल सभी 6 डीजे के नाम पर मुहर लगा दी है.



6 जजों की नियुक्ति के बाद भी 23 पद रहेंगे खाली
राजस्थान हाई कोर्ट में न्यायाधीशों के 50 पद स्वीकृत हैं. लेकिन वर्तमान में हाई कोर्ट में केवल 21 जज ही कार्यरत हैं. शुक्रवार को 6 जजों के शपथ ग्रहण के बाद इनकी संख्या 27 हो जाएगी. लेकिन उसके बाद भी 23 पद खाली रहेंगे. इस समय हाई कोर्ट की मुख्य पीठ जोधपुर और जयपुर पीठ में करीब साढ़े तीन लाख से ज्यादा मामले लंबित चल रहे हैं. जजों की संख्या बढ़ने से इनकी केसों की संख्या में कमी आएगी.

 

राज्य सरकार ने CEC के समक्ष स्वीकारा, राजस्थान में 'नासूर' बना अवैध बजरी खनन

 

अशोक गहलोत सरकार बड़ा फैसला, स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल होंगे कवि प्रदीप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading