लाइव टीवी

जयपुर: 8वीं की छात्रा ने महज 1 पेन के चक्कर में ले ली अपनी सहपाठी की जान

Sourabha Grahasthi | News18 Rajasthan
Updated: December 15, 2019, 7:37 AM IST
जयपुर: 8वीं की छात्रा ने महज 1 पेन के चक्कर में ले ली अपनी सहपाठी की जान
मां अपनी बेटी को बचाने के चक्कर में पायल की लाश को कट्टे में डालकर ले गई और घर के सामने ही स्थित तालाब में डाल दिया.

जयपुर (Jaipur) जिले के चाकसू में दो दिन पहले मिले बालिका के शव के मामले में सनसनीखेज (Sensational) खुलासा हुआ है. आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली पायल की उसी की कक्षा में पढ़ने वाली साथी ने महज एक पेन के लिए जान ले ली (Murder) थी.

  • Share this:
जयपुर. जिले के चाकसू (Chaksu) में दो दिन पहले मिले एक बालिका के शव के मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है. यहां आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली बालिका पायल की उसी की कक्षा में पढ़ने वाली साथी ने महज एक पेन के लिए जान ले ली. इस मामले में आरोपी नाबालिग बालिका के माता-पिता को गिरफ्तार किया गया है. वारदात के बाद साक्ष्य मिटाने में आरोपी बालिका के माता-पिता दोनों शामिल रहे हैं.

पेन को लेकर स्कूल में हुई थी बहस
दो दिन पहले गुरुवार को चाकसू में आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली बालिका पायल की मौत के मामले में रोंगटे खड़े करने वाला खुलासा हुआ है. पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा करते हुए बताया कि पायल और आरोपी बालिका एक ही कक्षा में पढ़ती थी. आरोपी बालिका ने पायल का पेन ले लिया था. इसको लेकर दोनों के बीच स्कूल में ही बहस हो गई थी, लेकिन परीक्षा होने के कारण पायल ने बहस खत्म कर दी थी. बाद में दोनों ने परीक्षा दी.

लोहे के सरियानुमा रोड से पायल पर किए वार

एडिशनल कमिश्नर अशोक कुमार गुप्ता ने बताया कि स्कूल से घर आने के बाद पायल आरोपी बालिका के घर पहुंची और उसे उलाहना देने लगी. इस बीच दोनों में काफी बहस हुई तो आरोपी बालिका ने लोहे के सरियानुमा रोड से पायल पर वार कर दिए. इस दौरान पायल ने पुलिस से उसकी शिकायत की बात कही. इससे डरी आरोपी बालिका ने पायल के सिर, मुंह, पेट और सीने पर ताबड़तोड़ वार कर दिए. इससे पायल को 19 चोंटे आईं और उसकी मौत हो गई. उसके बाद आरोपी बालिका ने न केवल खून साफ किया, बल्की डेड बॉडी को प्लास्टिक के कट्टे से ढंक दिया.

मां ने शव को लगाया ठिकाने
शाम को जब आरोपी बालिका की मां घर लौटी तो उसे पायल की डेड बॉडी नजर आई. इस बारे में उसने जब अपनी बेटी से पूछा तो उसने पूरा मामला बताया. मां अपनी बेटी को बचाने के चक्कर में पायल की लाश को कट्टे में डालकर ले गई और घर के सामने ही स्थित तालाब में डाल दिया. मामला यहीं समाप्त नहीं हुआ. पायल के लापता होने की बात सामने आई तो पूरा गांव उसकी तलाश में जुट गया. आरोपी बालिका का भाई भी गांव वालों के साथ मृतका की तलाश में जुटा रहा.पता चलने पर पिता भी हो गया शामिल
दूसरी तरफ आरोपी बालिका के घर में वह और उसकी मां बैचेन होती रही. रात तक पिता भी घर लौट आए. पूरी रात आरोपी मां-बेटी सो नहीं पाए. आधी रात को करीब साढ़े तीन बजे आरोपी की मां ने इस पूरे मामले के बारे में अपने पति को बताया. तब वह भी इस पूरे घटनाक्रम में शामिल हो गया. मामले की भनक किसी को न लग जाए इसके लिए आरोपी के मां-बाप वापस तालाब पहुंचे. वहां तालाब से पायल के शव को बाहर निकाला और फिर खुले मैदान में डाल दिया. गुरुवार को सुबह पायल का शव मिला.

आरोपी के घर मिली मृतका की बाली और खून के धब्बे
इस मामले में पोस्टमार्टम के बाद पुलिस को शक हो गया था की मृतका की हत्या का आरोपी गांव का ही कोई शख्स होगा. कड़ी जांच के दौरान मुखबीर की सूचना पर आरोपियों के घर की तलाशी ली गई वहां मृतका के कान की बाली और खून के धब्बे मिले. इस मामले में कड़ी पूछताछ के बाद तीनों ने वारदात करना स्वीकार कर लिया.

CAB: राजस्थान ने 2016 ने सौंप दिया था सहमति-पत्र, अब CMO पर टिकी है निगाहें

वसुंधरा के मुकाबले भामाशाहों ने CM अशोक गहलोत के राज में दिया दोगुना दान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 14, 2019, 7:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर