लाइव टीवी

जयपुर: राजनीतिक दल SC के आदेशों की पालना करें, प्रत्याशियों का आपराधिक रिकॉर्ड जनता को दें- CEC
Jaipur News in Hindi

Prem Meena | News18 Rajasthan
Updated: February 15, 2020, 10:04 AM IST
जयपुर: राजनीतिक दल SC के आदेशों की पालना करें, प्रत्याशियों का आपराधिक रिकॉर्ड जनता को दें- CEC
अरोड़ा ने कहा कि यह सुखद बात है कि प्रदेश में मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान 6 लाख नए मतदाता पंजीकृत किए गए हैं.

केंद्रीय मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा (CEC Sunil Arora) ने कहा है कि सभी राजनीतिक दलों (Political parties) को सुप्रीम कोर्ट की ओर से प्रत्याशियों के आपराधिक रिकॉर्ड (criminal record) की जानकारी आम जनता को देने के निर्देश की पालना करनी चाहिए.

  • Share this:
जयपुर. केंद्रीय मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा (CEC Sunil Arora) ने कहा है कि सभी राजनीतिक दलों (Political parties) को सुप्रीम कोर्ट की ओर से प्रत्याशियों के आपराधिक रिकॉर्ड (criminal record) की जानकारी आम जनता को देने के निर्देश की पालना करनी चाहिए. सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने हाल ही में देश के सभी राजनीतिक दलों को चुनाव मैदान में उतारे जाने वाले प्रत्याशियों का आपराधिक रिकॉर्ड आम जनता की जानकारी के लिए 48 घंटे में वेबसाइट पर अपलोड (Upload on website) करने के निर्देश दिये थे. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि सभी दलों को देश की शीर्ष अदालत के आदेश की पालना करनी चाहिए.

'लोकसभा आम चुनाव-2019 सांख्यिकी पुस्तिका' का विमोचन
मुख्य चुनाव आयुक्त ने शुक्रवार को राजधानी जयपुर में निर्वाचन अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. बैठक के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए अरोड़ा ने कहा कि प्रदेश में स्वीप कार्यक्रमों के जरिए मतदाताओं को और अधिक जागरूक किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रदेश की 10 उच्च शिक्षण संस्थाओं का चयन कर उनमें स्वीप गतिवधियां आयोजित करवाई जाएं. इस अवसर पर अरोड़ा ने 'लोकसभा आम चुनाव-2019 सांख्यिकी पुस्तिका' का भी विमोचन भी किया.

राज्य में 6 लाख नए मतदाता पंजीकृत किए

अरोड़ा ने कहा कि यह सुखद बात है कि प्रदेश में मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान 6 लाख नए मतदाता पंजीकृत किए गए हैं. इनमें 3 लाख से ज्यादा युवा मतदाताओं ने नाम जुड़वाए गए हैं. उन्होंने कहा कि हालांकि अभी भी लिंगानुपात और युवाओं की भागीदारी उतनी नहीं है, जितनी होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रदेश के सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को विशेष स्वीप प्लान के जरिए कार्य करवाए जाएं.

पिछले 4 आम चुनावों में दागी उम्मीदवारों की संख्या बढ़ी है
उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में राजनीति के अपराधीकरण पर चिंता जताते हुए कहा था कि पिछले 4 आम चुनावों में दागी उम्मीदवारों की संख्या बढ़ी है. कोर्ट ने चुनाव सुधारों को लेकर अपने अहम फैसले में कहा कि सभी दल अपनी वेबसाइट पर आपराधिक छवि वाले उम्मीदवारों के चयन की वजह बताएं. 

पंचायत चुनाव-2020: आयोग ने जारी किया मतदाता सूचियों का पुनरीक्षण कार्यक्रम

 

पंचायत चुनाव: मतदाता वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाएं, 1 मार्च से चलेगा अभियान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 15, 2020, 9:58 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर