जयपुर के रामगंज थाने पर बेकाबू भीड़ का पथराव, आगजनी के बाद कर्फ्यू

जयपुर का रामगंज थाना इलाके में शुक्रवार रात अचानक तनाव का माहौल पैदा गया.

ETV Rajasthan
Updated: September 9, 2017, 6:47 PM IST
जयपुर के रामगंज थाने पर बेकाबू भीड़ का पथराव, आगजनी के बाद कर्फ्यू
जयपुर का रामगंज थाना इलाके में शुक्रवार रात अचानक तनाव का माहौल पैदा गया.
ETV Rajasthan
Updated: September 9, 2017, 6:47 PM IST
राजस्थान की राजधानी जयपुर का रामगंज थाना इलाके में शुक्रवार रात पुलिसकर्मी और एक बाइक सवार दंपती के बीच मामूली कहासुनी के बाद हंगामा हो गया.

देखते ही देखते बेकाबू भीड़ थाने पर पहुंची और पुलिस थाने को घेर लिया. इसी बीच भीड़ में शामिल युवकों ने पत्थर बरसाना शुरू कर दिया. इस पथराव में 10 पुलिस जख्मी हो गए.

स्थिति को नियंत्रित करने के लिए रामगंज थाना पुलिस ने अतिरिक्त जाब्ता मंगवाया. अन्य थानों से पुलिब बल पहुंचता तब तक भीड़ उग्र हो चुकी थी. कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया.

पुलिस को मामला भीड़ को हटाने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े. इसी बीच एक युवक के मारे जाने की भी सूचना सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. स्थिति को काबू में करने के लिए शहर के रामगंज थाना क्षेत्र के साथ तीन अन्य थाना इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया और इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई.

एक ट्वीट ने बढ़ा दी गफलत

इस हंगामें में घायल हुए पुलिसकर्मियों में से एक की मौत की जानकारी वाले एक ट्वीट ने भी महकमे में हड़कंप मचा दिया. पुलिसकर्मियों के परिजन भी एसएमएस अस्पताल की ओर दौड़ते हुए पहुंचने लगे. लेकिन बाद में यह सूचना गलत साबित हुई. पुलिस कमिश्नर ने किसी भी पुलिस कर्मी की अभी तक मौत से इनकार कर दिया.



 

 



5 दमकल मौके पर, आग पर काबू
रामगंज में वाहनों काे आग के हवाले की खबर के तुरंत बाद वहां दमकल की पांच गाड़ियां पहुंच गई. जल्द ही आग बुझाने का काम शुरू कर दिया गया लेकिन तब तक वाहन जलकर खाक हो चुके थे. वहीं पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल मौके पर पहुंचे और लोगों से शांति की अपील की.

आमजन से अपील है कि वे शांति बनाए रखें. मामले की निष्पक्ष जांच की जाएगी. यदि पुलिसकर्मी दोषी पाया गया तो उसपर भी उचित कार्रवाई होगी. लेकिन गुस्से में गलत कदम नहीं उठाएं.
संजय अग्रवाल, पुलिस कमिश्नर, जयपुर


 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर