कोरोना को हराकर 28 दिन बाद स्वस्थ हुआ एशियाई शेर त्रिपुर, लायन सफारी में फिर छोड़ा जाएगा

जयपुर के नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में रहने वाले एशियाई शेर त्रिपुर को RT-PCR टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव पाया गया था

अट्ठाइस दिन पहले एशियाई शेर त्रिपुर को RT-PCR जांच (RT-PCR Test) के बाद इंडियन वेटनरी एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट, बरेली ने कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) बताया था. इसके बाद आनन-फानन में यहां मौजूद बिग कैट परिवार (Big Cat Family) के सभी 13 बाघ, शेर और बघेरों की कोरोना जांच कराई गई थी. इस दौरान त्रिपुर को उन सबसे अलग कर आइसोलेट कर दिया गया था

  • Share this:
जयपुर. कोरोना पॉजिटिव होने की वजह से देश भर में चर्चा का विषय बना जयपुर (Jaipur) के नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क (Nahargarh Biological Park) का एशियाई शेर त्रिपुर 28 दिन बाद कोरोना संक्रमण (Corona Positive) से लड़ाई जीत गया है. 28 दिन पहले त्रिपुर को RT-PCR जांच (RT-PCR Test) के बाद इंडियन वेटनरी एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट, बरेली ने कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) बताया था. इसके बाद आनन-फानन में यहां मौजूद बिग कैट परिवार (Big Cat Family) के सभी 13 बाघ, शेर और बघेरों की कोरोना जांच कराई गई थी. इस दौरान त्रिपुर को उन सबसे अलग कर आइसोलेट कर दिया गया था.

राहत की बात यह रही कि पहली रिपोर्ट के सात दिन बाद ही बाकी 12 बिग कैट्स की कोरोना जांच नेगेटिव आ गयी थी. तब से ही त्रिपुर का खास ख्याल रखा गया. उसे खाने में खास डाइट दी गयी जिसमें उबला हुआ गोश्त, चिकन सूप के साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली दवाएं दी गयी. इस दौरान त्रिपुर का देखभाल कर रही चिकित्सक टीम और उसके केयर टेकर कर्मचारियों का खास योगदान रहा. यह पूरी टीम 28 दिन तक यहीं मौजूद रही. उन्होंने बताया कि शुरुआत से त्रिपुर में कोरोना के कोई लक्षण सामने नहीं आये थे.

नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क टीम ने त्रिपुर में पाए गए लक्षणों के बारे में जब हैदराबाद जू से संपर्क साधा तो पता चला कि मामला गंभीर है. IVRI बरेली, वाइल्ड लाइफ इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, CCMB हैदराबाद और राजुवास बीकानेर के विशेषज्ञ जयपुर के संपर्क में रहे. इस दौरान चार सप्ताह तक हर सप्ताह त्रिपुर के सैंपल लिए गए. पिछले हफ्ते भेजे सैंपल के नतीजे की नेगेटिव रिपोर्ट शनिवार को जब IVRI बरेली ने जयपुर भेजी तो सबने राहत की सांस ली है. अब 28 दिन के क्वारंटाइन के बाद त्रिपुर को फिर नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क के लायन सफारी में खुला छोड़ने की तैयारी की जा रही है.