लाइव टीवी

जयपुर: CM गहलोत के बड़े फैसले, अब SC और अल्पसंख्यक मेधावी छात्राओं को भी मिलेगी स्कूटी
Jaipur News in Hindi

News18 Rajasthan
Updated: January 19, 2020, 12:13 PM IST
जयपुर: CM गहलोत के बड़े फैसले, अब SC और अल्पसंख्यक मेधावी छात्राओं को भी मिलेगी स्कूटी
सीएम अशोक गहलोत ने हाल ही में युवाओं को कई सौगातें दी हैं. राजस्थान पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में अभ्यर्थियों को आयु सीमा में एक वर्ष की छूट प्रदान की गई है.

सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने बड़ा फैसला लेते हुए अनुसूचित जाति (SC) और अल्पसंख्यक मेधावी छात्राओं (Minority meritorious girl students) को बड़ी सौगात दी है. अब एससी और अल्पसंख्यक मेधावी छात्राओं को भी स्कूटी (Scooty) मिलेगी.

  • Share this:
जयपुर. सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने बड़ा फैसला लेते हुए अनुसूचित जाति (SC) और अल्पसंख्यक मेधावी छात्राओं (Minority meritorious girl students) को बड़ी सौगात दी है. अब एससी और अल्पसंख्यक मेधावी छात्राओं को भी स्कूटी (Scooty) मिलेगी. सीएम गहलोत ने मेधावी छात्राओं को मिलने वाली स्कूटी की संख्या को बढ़ाने की मंजूरी (Clearance) दे दी है.

देवनारायण स्कूटी योजना में भी संख्या बढ़ाई
इसके तहत जनजाति की मेधावी छात्राओं की स्कूटी की संख्या 4000 से बढ़ाकर 6000 करने को मंजूरी दी गई है. वहीं देवनारायण स्कूटी योजना में स्कूटी की संख्या 1000 से बढ़ाकर 1500 करने की मंजूरी दी है. देवनारायण स्कूटी योजना पहले की तरह जारी रहेगी. अन्य सभी स्कूटी योजनाएं कालीबाई भील स्कूटी योजना में समाहित होंगी. सीएम अशोक गहलोत इन सभी को मंजूरी प्रदान कर दी है.

पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में आयु सीमा में छूट दी है

सीएम अशोक गहलोत ने हाल ही में युवाओं को कई सौगातें दी हैं. इनमें दो दिन पहले ही राजस्थान पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में अभ्यर्थियों को ऊपरी आयु सीमा में एक वर्ष की छूट प्रदान की गई है. पुलिस मुख्यालय ने पिछले वर्ष 4 दिसंबर को कांस्टेबलों के 5 हजार पदों के लिए भर्ती विज्ञप्ति जारी की थी. पहले उसमें 1 जनवरी, 2020 को आधार मानकर आयु की गणना की गई थी. लेकिन अब सीएम के फैसले के बाद इसमें 1 जनवरी, 2021 को आधार मानकर आयु की गणना की जाएगी. इससे बड़ी संख्या में युवाओं को इसमें शामिल होने का मौका मिल सकेगा.

सहरिया युवाओं को राहत प्रदान की गई है

 वहीं आदिम जाति सहरिया के युवाओं के लिए भी गहलोत सरकार ने नौकरी के अवसर बढ़ाए हैं. इसके तहत अब सहरिया बाहुल्य बारां जिले की सभी तहसीलों में राज्य सेवाओं को छोड़कर अन्य सभी राजकीय सेवाओं में सीधी भर्ती द्वारा भरी जाने वाली रिक्तियों में से 25% पद स्थानीय शहरी सहरिया आदिम जाति के अभ्यर्थियों से ही भरे जाएंगे.

 

कांस्टेबल भर्ती परीक्षा: सीएम ने अभ्यर्थियों को दी आयु सीमा में एक वर्ष की छूट

सहरिया वर्ग को सीएम गहलोत ने दी बड़ी सौगात, सरकारी नौकरियों के अवसर बढ़ाए

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 12:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर