लाइव टीवी

जयपुर बम ब्लास्ट केस: जज शर्मा ने जिस कलम से फांसी का आदेश दिया उसे बार एसोसिएशन को सौंपा
Jaipur News in Hindi

Sachin Kumar | News18 Rajasthan
Updated: February 1, 2020, 3:43 PM IST
जयपुर बम ब्लास्ट केस: जज शर्मा ने जिस कलम से फांसी का आदेश दिया उसे बार एसोसिएशन को सौंपा
6 अक्टूबर, 2018 को जज शर्मा की बम ब्लास्ट कैसेज विशेष अदालत में पोस्टिंग हुई थी. शर्मा ने नियमित सुनवाई करते हुए 20 दिसम्बर, 2019 को इसका फैसला सुनाया था .

करीब साढ़े 11 साल पहले हुए जयपुर बम ब्लास्ट (Jaipur bomb blast) मामले में गुलाबी नगरी को इंसाफ (Justice) देने वाले जज अजय कुमार शर्मा प्रथम (Ajay Kumar Sharma first) शुक्रवार को सेवानिवृत्त हो गए.

  • Share this:
जयपुर. करीब साढ़े 11 साल पहले हुए जयपुर बम ब्लास्ट (Jaipur bomb blast) मामले में गुलाबी नगरी को इंसाफ (Justice) देने वाले जज अजय कुमार शर्मा प्रथम (Ajay Kumar Sharma first) शुक्रवार को सेवानिवृत्त हो गए. दी बार एसोसिएशन जयपुर (The Bar Association Jaipur)  की ओर से शर्मा की सेवानिवृत्ति (Retirement) पर आयोजित किए समारोह में उन्होंने उस कलम (Pen) को बार को सौंप दिया, जिससे उन्होंने बम ब्लास्ट के गुनाहगारों को फांसी की सजा (Sentence to death) सुनाई थी.

जयपुर बार हमेशा इस कलम को संग्रहित करके रखेगी
बार के महासचिव सतीश कुमार शर्मा ने बताया कि जयपुर बार हमेशा इस कलम को संग्रहित करके रखेगी. इससे हमेशा यह प्रेरणा मिलती रहेगी कि न्याय की प्रक्रिया सतत व अनवरत है और न्याय हमेशा जिंदा रहता है. जज अजय कुमार शर्मा प्रथम ने जयपुर को दहलाने वाले चार गुनहगारों को 20 दिसंबर, 2019 को फांसी की सजा सुनाई थी.

8 फरवरी, 1996 में जज बने थे शर्मा



मूलतः भरतपुर निवासी जज अजय कुमार शर्मा प्रथम का जन्म 18 जनवरी, 1960 को हुआ था. शर्मा ने एलएलबी और एलएलएम तक शिक्षा ग्रहण की. उसके बाद वे 8 फरवरी, 1996 में जज बने. 28 मई, 2002 को इन्हें सीनियर सिविल जज कैडर मिला. 21 अप्रेल, 2010 को डिस्ट्रिक्ट एवं सेशन जज कैडर मिला. 6 अक्टूबर, 2018 को उनकी बम ब्लास्ट कैसेज विशेष अदालत में पोस्टिंग हुई. शर्मा ने नियमित सुनवाई करते हुए 20 दिसम्बर, 2019 को इसका फैसला सुनाया.

4 दोषियों को सुनाई थी फांसी की सजा, 1 को किया था बरी
जज अजय कुमार शर्मा प्रथम ने जयपुर बम ब्लास्ट केस के चार आरोपियों मोहम्मद सैफ, सरवर आजमी, सलमान और सैफुर्रहमान को दोषी करार दिया था. शर्मा ने इन चार दोषियों को फांसी की सजा सुनाई थी. वहीं मुजाहिद्दीन के नाम से धमाकों की जिम्मेदारी लेने वाले आरोपी मोहम्मद शहबाज हुसैन को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया था.

 

 

2008 को गुलाबी नगरी में हुए थे सीरियल बम ब्लास्ट
करीब साढ़े 11 साल पहले 13 मई, 2008 को जयपुर में एक के बाद एक लगातार हुए 8 सीरियल बम ब्लास्ट में 71 लोगों की मौत हो गई थी. इनमें 185 से ज्यादा लोग घायल हुए थे. इस मामले में जयपुर के माणक चौक और कोतवाली थाने में 4-4 अलग-अलग एफआईआर दर्ज की गई थी.

 

2 करोड़ रुपए की नशीली दवाओं का जखीरा पकड़ा, पर्यटकों के लिए होनी थी सप्लाई

 

स्वर्ण अक्षरों में लिखित दुर्लभ कुरान बरामद, 16 करोड़ में सौदा कर रहा था शातिर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 1, 2020, 3:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर