• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • JAIPUR JAIPUR CM ASHOK GEHLOT TODAY SAID BJP AND RSS HAVE ADOPTED GANDHI JI AND SARDAR PATEL SOON THEY WILL ALSO ACCEPT JAWAHAR LAL NEHRU NODMK8

CM गहलोत का BJP-RSS पर 'प्रहार', कहा- गांधी-पटेल को अपना चुके, नेहरु को भी जल्द अपना लेंगे

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि वर्तमान में देश में जिस तरह का माहौल है उसमें गांधी आज ज्यादा प्रासंगिक हैं

महात्मा गांधी के 150वें जयंती वर्ष और स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में गांधीवादी और स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रदेशस्तरीय सम्मेलन में अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कहा, गांधीजी और सरदार पटेल को तो बीजेपी और आरएसएस (BJP And RSS) अपना चुकी है. जल्द ही ऐसा वक्त भी आएगा जब ये पंडित जवाहर लाल नेहरु (Jawahar Lal Nehru) को भी अपना लेंगे

  • Share this:
जयपुर. अशोक गहलोत सरकार (Gehlot Government) बीजेपी और आरएसएस पर लगातार हमलावर है. मंगलवार को गांधीवाद पर चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने जमकर बीजेपी और आरएसएस (BJP And RSS) पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि गांधीजी और सरदार पटेल को तो बीजेपी और आरएसएस अपना चुकी है. जल्द ही ऐसा वक्त भी आएगा जब ये पंडित जवाहर लाल नेहरु (Jawahar Lal Nehru) को भी अपना लेंगे. दरअसल महात्मा गांधी के 150वें जयंती वर्ष और स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर मंगलवार को गांधीवादी और स्वयंसेवी संस्थाओं का प्रदेशस्तरीय सम्मेलन आयोजित किया गया था.

दांडी मार्च के समापन दिवस पर आयोजित इस सम्मेलन को सीएम गहलोत ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (VC) के माध्यम से संबोधित किया. गहलोत ने कहा कि देश में आज जो माहौल है वो बड़ी चुनौती है, फोन टेपिंग के डर से लोग टेलीफोन पर बात करने तक से झिझक रहे हैं. ईडी, सीबीआई और इनकम टैक्स जैसी संस्थाओं का दुरुपयोग सरकार बनाने और गिराने के लिए किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इन लोगों (बीजेपी-आरएसएस) को पता नहीं है कि जनता सब समझती है और वक्त आने पर जवाब भी देती है.

गांधीवादी कहलाने पर होता है गिल्टी कॉन्सियस 
दांडी मार्च की वर्तमान में प्रासंगिकता विषय पर आयोजित सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि नई पीढ़ी तक संविधान बचाओ, देश बचाओ की बात पहुंचानी होगी. उन्होंने प्रदेश में गैर राजनीतिक तरुण शांति सेना बनाए जाने की जरुरत जाहिर की. संगोष्ठी को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि मैंने महात्मा गांधी को बहुत कम पढ़ा है और लोगों द्वारा मुझे गांधीवादी कहे जाने पर मैं गिल्टी कॉन्सियस महसूस करता हूं. उन्होंने कहा कि गांधी अपने आप में बहुत बड़ा खजाना है. इसे जितना लूटा जाएगा उतना ही देश और समाज का भला होगा.

वर्तमान माहौल मे गांधी ज्यादा प्रासंगिक
सीएम गहलोत ने महात्मा गांधी के नाम से किए गये कार्यों को भी संगोष्ठी में गिनाया. उन्होंने कहा कि प्रदेश में गाधी शांति निदेशालय बनाया गया है. साथ ही एक हजार से ज्यादा इंग्लिश मीडियम स्कूल खोले गए हैं. महात्मा गांधी वाचनालयों की संख्या बढ़ा कर 14,000 की जा रही है. प्रदेश में सर्वोदय विचार परीक्षा का आयोजन होगा और छात्रवृत्ति उन्हीं बच्चों को मिलेगी जो यह परीक्षा पास करेंगे. हालांकि मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि इस बिंदु पर कोई कंट्रोवर्सी नहीं हो इसके लिए इस प्रावधान में संशोधन भी किया जा सकता है.

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हनुमानगढ़ कलेक्ट्रेट में स्थापित की गई सात फीट की महात्मा गांधी की प्रतिमा का लोकार्पण भी किया. उन्होंने कहा कि वर्तमान में देश में जिस तरह का माहौल है उसमें गांधी आज ज्यादा प्रासंगिक हैं.