Home /News /rajasthan /

जयपुर: 6 साल की मासूम से रेप कर हत्या करने वाले रेपिस्ट को मृत्युदंड, 8.20 लाख रुपए का जुर्माना

जयपुर: 6 साल की मासूम से रेप कर हत्या करने वाले रेपिस्ट को मृत्युदंड, 8.20 लाख रुपए का जुर्माना

अपर सेशन न्यायाधीश ने अपने फैसले में पीड़िता की पीड़ा को शब्दों में व्यक्त करते हुए कि 'मैं नन्हीं सी गुड़िया थी, मुझे जीना था, हंसना था, खेलना था, फिर क्यों इतना दर्द दिया, बिना कसूर, बिना गलती के क्यों निष्ठुरता से तोड़कर, मुझको फेंक दिया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अपर सेशन न्यायाधीश ने अपने फैसले में पीड़िता की पीड़ा को शब्दों में व्यक्त करते हुए कि 'मैं नन्हीं सी गुड़िया थी, मुझे जीना था, हंसना था, खेलना था, फिर क्यों इतना दर्द दिया, बिना कसूर, बिना गलती के क्यों निष्ठुरता से तोड़कर, मुझको फेंक दिया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर (Jaipur) जिले की दूदू की अपर सेशन कोर्ट (Additional Sessions Court) ने करीब 8 साल पहले 6 वर्षीय मासूम की रेप के बाद निर्दयतापूर्वक की गई हत्या (Rape and murder case) के मामले में रेपिस्ट (Rapist) महेंद्र उर्फ धर्मेंद्र बैरवा को फांसी की सजा (Sentence to death) सुनाई है.

अधिक पढ़ें ...
जयपुर. जयपुर जिले की दूदू की अपर सेशन कोर्ट (Additional Sessions Court) ने करीब आठ साल पहले 6 वर्षीय मासूम की रेप के बाद निर्दयतापूर्वक की गई हत्या (Rape and murder case) के मामले में रेपिस्ट (Rapist) महेंद्र उर्फ धर्मेंद्र बैरवा को फांसी की सजा (Sentence to death) सुनाई है. मासूम से रेप और हत्या की यह वारदात फागी इलाके में हुई थी. कोर्ट ने शनिवार को रेपिस्ट को न केवल फांसी की सजा सुनाई, बल्कि विभिन्न धाराओं में उस पर 8.20 लाख रुपए का जुर्माना (Penalty) भी लगाया है. कोर्ट ने इस केस को दुर्लभतम (Rarest of rare) मानते हुए अपने फैसले में पीड़िता की पीड़ा को बड़े ही मार्मिक शब्दों में बयां किया है.

कोर्ट ने कहा यह ऐसी घटना है जिसको सोचकर अहसास नि:शब्द हो जाते हैं
अपर सेशन न्यायाधीश शिल्पा समीर ने अपने फैसले में कहा कि रेपिस्ट का यह अपराध नृशंस ही नहीं है, बल्कि संपूर्ण समाज को प्रभावित करने वाला है. यह संपूर्ण समाज की आत्मा को उद्वेलित करने वाला अपराध है. यह एक ऐसी घटना है जिसको सोचकर अहसास नि:शब्द हो जाते हैं. भावनाएं खामोश हो जाती हैं. यह अपराध की दुर्लभतम घटनाओं में से एक है. इसमें अभियुक्त को मृत्युदंड के अलावा कोई और दंड दिया ही नहीं जा सकता.

अपर सेशन न्यायाधीश ने अपने फैसले में पीड़िता की पीड़ा को शब्दों में व्यक्त करते हुए कि
'मैं नन्हीं सी गुड़िया थी,
मुझे जीना था,
हंसना था,
खेलना था,
फिर क्यों इतना दर्द दिया,
बिना कसूर, बिना गलती के,
क्यों निष्ठुरता से तोड़कर'
मुझको फेंक दिया'

यह था पूरा मामला
जानकारी के अनुसार रेप और हत्या की यह वारदात 21 मई, 2011 को फागी थाने इलाके में हुई थी. पीड़िता के पिता ने इस संबंध में मामला दर्ज कराया था. दर्ज रिपोर्ट के मुताबिक वह उस दिन अपनी पत्नी के साथ मजदूरी करने गया हुआ था. दोपहर बाद जब वह घर वापस पहुंचा तो उसकी 6 वर्षीय बेटी और बकरा नहीं मिले. ढूंढने पर कच्चे मकान के एक कमरे में बेटी का शव मिला. उसके गुप्तांगों से खून निकला हुआ था. गले में सूत की रस्सी बंधी हुई थी. मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले में आगे की कानूनी कार्रवाई की. आरोपी ने मासूम से रेप कर निर्दयतापूर्वक गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी थी.

चाकसू इलाके का रहने वाला है रेपिस्ट
पुलिस ने आरोपी महेंद्र उर्फ धर्मेंद्र बैरवा (27) को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी चाकसू थाना इलाके के तामड़िया गांव का रहने वाला है. जांच-पड़ताल के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कोर्ट में चालान पेश किया. सुनवाई के बाद उपलब्ध साक्ष्यों और गवाहों के बयान के आधार पर कोर्ट ने महेंद्र उर्फ धर्मेंद्र बैरवा को रेप का दोषी करार देते हुए उसे फांसी की सजा सुनाई. मामले में राज्य सरकार की ओर से पैरवी अपर लोक अभियोजक हनुमान सहाय पारीक ने की.

राजस्थान: 6 साल की बच्ची की रेप के बाद हत्या, स्कूल बेल्ट से घोटा गला

Tonk Rape and Murder Case: मासूम को टॉफी का लालच देकर साथ ले गया था रेपिस्ट

Tags: Court, Jaipur news, Murder, Rajasthan news, Rape

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर