लाइव टीवी

राजस्थान की जेलों में जल्द शुरू होगी 'ई-मुलाकातें', ऑनलाइन करना होगा आवेदन
Jaipur News in Hindi

Rakesh Gusai | News18 Rajasthan
Updated: February 22, 2020, 7:28 PM IST
राजस्थान की जेलों में जल्द शुरू होगी 'ई-मुलाकातें', ऑनलाइन करना होगा आवेदन
जेल में बंद कैदी से मिलने से पूर्व परिजनों को जेल विभाग की वेबसाइट पर जाकर ई-मुलाकात पर अपनी और कैदी की पूरी जानकारी देनी होगी. सांकेतिक तस्वीर

राजस्थान की जेलों (Jails) में जल्द ही ई-मुलाकात (E-visit) का दौर शुरू होने वाला है. इससे जेलों में बंद कैदियों ( prisoners) से उनके परिजन आसानी से और तय समय में मुलाकात (Meeting) कर सकेंगे. इसके लिए उन्हें ऑन लाइन आवेदन (Online Application) करना होगा.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान की जेलों (Jails) में जल्द ही ई-मुलाकात (E-visit) का दौर शुरू होने वाला है. इससे जेलों में बंद कैदियों ( prisoners) से उनके परिजन आसानी से और तय समय में मुलाकात (Meeting) कर सकेंगे. इसके लिए उन्हें ऑन लाइन आवेदन (Online Application) करना होगा. इस व्यवस्था से कैदियों के परिजनों का बेवजह समय खराब नहीं होगा.

जेल प्रशासन ई-मुलाकात का सिस्टम तैयार कर चुका है
राजस्थान की जेलों में बंद कैदियों का रिकॉर्ड ऑनलाइन करने के बाद अब जेल प्रशासन ई-मुलाकात का सिस्टम तैयार कर चुका है. इस ई-मुलाकात का मुख्य उद्देश्य है कि जेलों के बाहर कई घंटों तक अपनो की मुलाकात की प्रतीक्षा में खड़े लोगों की परेशानी को कम करना. सोमवार को तो जेल में मुलाकात नहीं कराने का प्रावधान है. लेकिन उसके बाद भी बड़ी संख्या में हर दिन लोग अपनों से मिलने के लिए जेल पहुंच जाते हैं. इसके चलते जेल विभाग को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ता है. इसी को देखते हुए जेल विभाग जल्द ही ई-मुलाकात सिस्टम शुरू करने वाला है.

जेल विभाग की वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होगा



डीआईजी जेल विकास कुमार ने बताया कि जेल में बंद कैदी से मिलने से पूर्व परिजनों को जेल विभाग की वेबसाइट पर जाकर ई-मुलाकात पर अपनी और कैदी की पूरी जानकारी देनी होगी. उसके बाद जेल विभाग इस बात की जांच करेगा कि उस दिन कैदी की कोई पेशी तो नहीं है. कैदी मिलने की स्थिति में है या नहीं. जेल विभाग इसकी पूरी पड़ताल करने के बाद परिजनों को मुलाकात का समय देगा. उसके बाद परिजन तय समय में बंदी से मुलाकात कर सकेंगे.

मौजूदा व्यवस्था भी रहेगी, लेकिन वे प्राथमिकता में नहीं रहेंगे
बकौल डीआईजी जेल विकास कुमार ई-मुलाकात से जेल प्रशासन का रिकॉर्ड भी तैयार हो जायेगा की जेलों में बंद कैदियों से कौन-कौन मुलाकात कर रहे हैं. कई कैदियों के परिजन ई-मुलाकात को समय रहते नहीं समझ सकते इसलिए मौजूदा समय में जो प्रक्रिया चल रही है वह भी चलती रहेगीए लेकिन प्राथमिकता ई-मुलाकात का रजिस्ट्रेशन कराने वाले को मिलेगी.

 

PHOTOS: जयपुर में बने सोने-चांदी के इन सैट्स में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को परोसा जाएगा लंच-डिनर

Nagaur Viral Video Case: कार्रवाई और सियासत जारी, यहां देखें पूरा अपडेट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 22, 2020, 7:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर