Jaipur: गहलोत सरकार ने पेट्रोल पर 2 और डीजल पर 1 फीसदी वैट बढ़ाया, अधिसूचना जारी

पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से लोगों को परेशानी हो रही है.
पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से लोगों को परेशानी हो रही है.

कोरोना संकट काल (COVID-19) के बीच प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार ने एक महीने से भी कम समय में पेट्रोल-डीजल (Petrol and Diesel) पर लगने वाले वैट में फिर से बढ़ोतरी कर दी है.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना संकट काल (COVID-19) के बीच प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) ने एक महीने से भी कम समय में पेट्रोल-डीजल (Petrol and diesel) पर लगने वाले वैट में फिर से बढ़ोतरी कर दी है. पेट्रोल पर 2 प्रतिशत और डीजल पर 1 प्रतिशत वैट बढ़ाया गया है. बुधवार देर रात इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई. अब पेट्रोल पर वैट 34 से बढ़ाकर 36 प्रतिशत और डीजल पर 26 से बढ़कर 27 प्रतिशत हो गया है.

इससे पहले गत 22 मार्च को ही राज्य सरकार ने पेट्रोल और डीजल दोनों पर 4-4 प्रतिशत की वैट बढ़ोतरी की थी. उस वक्त पेट्रोल पर वैट 30 से बढ़ाकर 34 प्रतिशत और डीजल पर 22 से बढ़ाकर 26 प्रतिशत कर दिया गया था. इसी के साथ केन्द्र सरकार ने भी मार्च में ही पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में 3 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी भी की थी.

सरकार की वित्तीय स्थिति में होगा सुधार
जानकारों के अनुसार, इस बढ़ोतरी से अब प्रदेश में पेट्रोल के दामों में प्रति लीटर 1.50 रुपए तक एवं डीजल पर 70 से 80 पैसे की बढ़ोतरी संभावित है. राजधानी जयपुर में बुधवार को पेट्रोल की प्रति लीटर कीमत 75.59 रुपए और डीजल की 69.28 रुपए रही. दरअसल, सरकार चाहती है कि कोराना संकट से उत्पन्न परिस्थितियों पर काबू पाने के लिए पेट्रोल और डीजल पर कर का भार बढ़ाना बेहद जरूरी है. इसलिए सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर वैट बढ़ा दिया है. सरकार के इस निर्णय से वित्तीय स्थिति में सुधार होगा.




कोरोना महामारी पर बेहताशा हो रहा है खर्च
उल्लेखनीय है कि कोरोना संकट के चलते इसकी रोकथाम पर बेहताशा खर्च हो रहा है. सरकार कोरोना महामारी के कारण लगातार बढ़ रहे खर्च को मैनेज करने के लिए नित नए उपाय कर रही है. इसी के तहत मार्च माह में सीएम से विधायक और आईएएस-आईपीएस से लेकर नीचले स्तर के कर्मचारी की सैलेरी में भी कटौती की गई थी. सरकार का प्रयास कि लॉकडाउन की अवधि में कोई भी जरुरतमंद भूखा नहीं रहे. इस पर सरकार पूरा ध्यान दे रही है और जगह-जगह जरुरतमंदों के लिए खाद्य सामग्री वितरीत कराई जा रही है.

Rajasthan: सीएम गहलोत का बड़ा फैसला, 21 अप्रेल से मॉडिफाइड लॉकडाउन लागू होगा

परीक्षाओं और सत्र में देरी होना तय! प्राध्यापक भर्ती परीक्षा को लेकर भी आशंका
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज