होम /न्यूज /राजस्थान /ओलावृष्टि: आसमानी आफत ने अन्नदाता को किया तबाह, CM गहलोत ने जताई चिंता, कहा- सरकार किसानों के साथ

ओलावृष्टि: आसमानी आफत ने अन्नदाता को किया तबाह, CM गहलोत ने जताई चिंता, कहा- सरकार किसानों के साथ

किसानों का कहना है कि करीब 5 साल बाद ऐसी ओलावृष्टि हुई है, जिसने फसल को 80 फीसदी तक बर्बाद कर दिया है.

किसानों का कहना है कि करीब 5 साल बाद ऐसी ओलावृष्टि हुई है, जिसने फसल को 80 फीसदी तक बर्बाद कर दिया है.

प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में गुरुवार को बरसी आसमानी आफत ने अन्नदाता की कमर तोड़कर रख दी है. राजधानी जयपुर समेत विभिन्न ...अधिक पढ़ें

जयपुर. प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में गुरुवार को बरसी आसमानी आफत ने अन्नदाता की कमर तोड़कर रख दी है. राजधानी जयपुर समेत विभिन्न जिलों में हुई ओलावृष्टि और बारिश (hailstorm and rain) से बड़े स्तर पर किसानों (Farmers) की फसल में खराबा (Crops destroyed) हुआ है. खास तौर से खेतों में पककर खड़ी और कटी हुई गेहूं और सरसों (Wheat and mustard) की फसल में ओलावृष्टि से भारी बर्बादी हुई है. इसके साथ ही आलू, मटर, टमाटर और प्याज जैसी सब्जियों की फसल में भी खासा नुकसान हुआ है. सीएम अशोक गहलोत  (CM Ashok Gehlot) ने ट्वीट कर खराबे पर चिंता जताई है. उन्होंने कहा कि सरकार किसानों के साथ है.

करीब 5 साल बाद ऐसी ओलावृष्टि हुई है
किसानों का कहना है कि करीब 5 साल बाद ऐसी ओलावृष्टि हुई है, जिसने फसल को 80 फीसदी तक बर्बाद कर दिया है. यदि सरकार से मुआवजा नहीं मिला तो उनके सामने परिवार का पेट पालने का संकट खड़ा हो जाएगा. जयपुर शहर के साथ ही आस-पास के गावों में जमकर हुई ओलावृष्टि से हर तरफ ओलों की चादर बिछ गई. चने और बेर के आकार के ओलों ने एक घंटे में ही पूरी फसल को बर्बाद करके रख दिया. किसानों के मुताबिक रुक-रुक कर करीब पौन घण्टे तक ओलों की हुई बारिश से भारी खराबा हुआ है.

धूप खिलने पर चटक जाएगी बाली
बारिश और ओलावृष्टि से फसल भीग गई है और खेतों में ही पसर गई है. अब धूप खिलने पर जहां सरसों और गेहूं की बालियां चटककर जाएंगी और उनका दाना बर्बाद हो जाएगा. वहीं सब्जियों की फसल भी गलकर नष्ट हो जाएगी. किसानों के मुताबिक जिस स्तर का खराबा हुआ है उससे अगर 25 फीसदी फसल भी सलामत बच जाए तो गनीमत होगी. पिछले दिनों भरतपुर, अलवर, धौलपुर, झुंझुनूं और बारां आदि जिलों में भी बारिश और ओलावृष्टि से बर्बादी हुई थी. लेकिन गुरुवार को फिर बरसी आसमानी आफत ने किसानों को तबाह कर दिया है. अब वे मुआवजे के लिए सरकार की ओर टकटकी लगाए हुए हैं.

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा नुकसान की जानकारी चिंतनीय है
संकट की इस घड़ी में सरकार ने किसानों के प्रति संवेदना दिखाई है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि प्रदेश के कई जिलों में बारिश के साथ ओलावृष्टि से फसलों को हुए नुकसान की जानकारी चिंतनीय है. मुख्यमंत्री ने कहा कि संकट की इस घड़ी में सरकार किसानों के साथ है और बैठक कर मुख्य सचिव को फसल खराबे की गिरदावरी जल्द से जल्द करवाने के निर्देश दिए गये हैं.






राज्य सरकार ने CEC के समक्ष स्वीकारा, राजस्थान में 'नासूर' बना अवैध बजरी खनन



अशोक गहलोत सरकार बड़ा फैसला, स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल होंगे कवि प्रदीप

Tags: Ashok gehlot, Farmer, Jaipur news, Rajasthan news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें