जयपुर में फिर हुआ कोरोना विस्फोट, 24 घंटे में सामने आए संक्रमण के 148 नए मामले

पिछले कुछ दिनों के दौरान जयपुर समेत पूरे राजस्थान में कोरोना मामलों में अचानक काफी तेजी आई है (फाइल फोटो)

पिछले कुछ दिनों के दौरान जयपुर समेत पूरे राजस्थान में कोरोना मामलों में अचानक काफी तेजी आई है (फाइल फोटो)

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक जयपुर (Jaipur) शहर के लगभग सभी हिस्सों से कोरोना संक्रमण (Corona Virus) के नए मामले सामने आ रहे हैं. खास तौर पर वैशाली नगर, मानसरोवर, मालवीय नगर, झोटवाडा, जगतपुरा समेत 64 जगहों से मामलों की लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2021, 10:49 PM IST
  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में एक बार फिर से कोरोना वायरस (Corona Virus) बेकाबू होता हुआ नजर आ रहा है. गुजरते हर दिन के साथ प्रदेश में संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है. राजधानी जयपुर (Jaipur) में सोमवार को कोरोना का विस्फोट हुआ है. यहां कई दिनों के बाद 148 नए मामले सामने आए हैं. बढ़ते मामलों के बीच स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा (Raghu Sharma) ने लोगों से दिवाली की तरह होली (Holi 2021) के त्योहार पर भी सावधानी बरतने की अपील की है.

जयपुर में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के नए मामलों में बढ़ोतरी देखने को मिल रही थी. लेकिन सोमवार को आंकड़ा लगभग डेढ़ सौ के पास पहुंच गया. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार रविवार को जयपुर में 86 नए मामले सामने आए थे. वहीं सोमवार को कोरोना संक्रमण के 148 केस सामने आए हैं. विभाग के मुताबिक शहर के लगभग सभी हिस्सों से नए मामले सामने आ रहे हैं. खास तौर पर वैशाली नगर, मानसरोवर, मालवीय नगर, झोटवाडा, जगतपुरा समेत 64 जगहों से मामलों की लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है.

स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने आम लोगों से की अपील

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि देश के अन्य राज्यों की तरह राजस्थान में भी कोरोना केस में इजाफा हो रहा है. उन्होंने कहा कि ऐसे में सरकार एक बार फिर कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग, पैसिव और एक्टिव सर्विलांस कर रही है. उन्होंने आम लोगों से यह अपील करते हुए कहा कि जिस तरह पहली वेव में उन्होंने पूरे संयम के साथ कोरोना का मुकाबला किया था, आगे भी पूरा सहयोग करें. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, गुजरात सहित कई प्रदेशों में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं. इसको देखते हुए सरकार ने इन राज्यों से आने वाले लोगों की नेगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य कर दी है. रिपोर्ट नहीं लाने वाले लोगों को 15 दिन क्वारंटाइन में रखा जाएगा.
शर्मा ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए सभी गाइडलाइन का पालन करना आवश्यक है. इसमें मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग और बार-बार हाथ धोने जैसे उपाय शामिल हैं. उन्होंने कहा कि सामाजिक और धार्मिक कार्यक्रमों में भी सरकार द्वारा तय की गई संख्या के अनुसार ही आमजन को भागीदारी सुनिश्चित करने की आवश्यकता है, ताकि संक्रमण का फैलाव कम से कम हो. उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में होली, गणगौर और नवरात्र जैसे कई त्योहार हैं. ऐसे में जीवन को सर्वोच्च प्राथमिकता रखते हुए पूरी सावधानी बरतें और भीड़ से दूर रहने का प्रयास करें. त्योहार सुरक्षित रहें इसके लिए आवश्यक है कि सभी कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जाए.

राज्य में 42 लाख से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि एंटी कोरोना वैक्सीन पूर्ण रुप से सुरक्षित है और पात्र व्यक्ति अपना क्रम आने पर आवश्यक रुप से वैक्सीनेशन कराएं. उन्होंने कहा कि राज्य में वैक्सीनेशन ड्राइव सुगमता से संचालित की जा रही है और 21 मार्च तक राजस्थान में 42 लाख से अधिक लोगों को एंटी कोरोना वैक्सीन लगाई जा चुकी है. राज्य के सभी वैक्सीनेशन सेंटर पर नियमित रुप से वैक्सीनेशन किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि एंटी कोरोना वैक्सीनेशन की दोनों डोज लगाना अनिवार्य है. इसलिए जिन लाभार्थियों ने पहली डोज लगवाई है उनसे निवेदन है कि वो 28 दिन बाद आवश्यक रुप से दूसरी डोज लगवाएं.



जिला प्रशासन को दिए निर्देश

शर्मा ने कहा कि राज्य में लगातार नए मिल रहे कोरोना केस की संख्या देश के अन्य राज्यों की अपेक्षा काफी कम है लेकिन फिर भी स्वास्थ्य विभाग पूर्ण रुप से सतर्क है. उन्होंने कहा है कि जिन जिलों या विशेष क्षेत्रों में कोरोना केसों की संख्या बढ़ रही है वहां जिला प्रशासन को विशेष सतर्कता बरतने के लिए निर्देश दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रतिदिन कोरोना समीक्षा बैठक कर रहे हैं और लगातार इस विषय पर नजर रखे हुए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज